सतना अपहरणः डीजीपी ने बदमाशों का सुराग देने वालों पर घोषित किया 50 हजार का इनाम

चैतन्य भारत न्यूज।

सतना। चित्रकूट के अपहरण मामले में डीजीपी ने 50 हजार का इनाम घोषित किया है। बता दें कि मंगलवार को सतना जिले में अपहरण का सनसनीखेज मामला सामने आया है, जिसमें बस में चढ़कर बदमाशों ने बंदूक की नोंक पर दो जुड़वा भाइयों का अपहरण कर लिया। घटना नयागांव थाना क्षेत्र की है।

मुख्यमंत्री ने दिए जल्द कार्रवाई के निर्देश

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मामले को संज्ञान में लिया है। कमलनाथ ने डीजीपी वीके सिंह से पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी है।मुख्यमंत्री ने अपहरणकर्ताओं को जल्द गिरफ्तार करने के दिए निर्देश दिए हैं। साथ ही प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर नाराजगी भी जताई है। डीजीपी ने बदमाशों का सुराग देने वालों पर 50 हजार का इनाम घोषित किया है। घटना के एक दिन बाद अपराधियों का कोई पता नहीं चल सका है।

दो नकाबपोशों ने बस रूकवाई 

जानकारी अनुसार मंगलवार दोपहर 12.30 बजे एलकेजी में पढ़ने वाले दो जुड़वा भाई स्कूल से छुट्टी होने के बाद बस में सवार होकर घर जा रहे थे, तभी रास्ते में दो नकाबपोश बदमाशों ने बस रुकवाकर चढ़ गए, उस के बाद एक ने महिला केयर टेकर पर कट्टा ताना और दूसरा बंदूक की नोंक पर बच्चों को ले गया।

पूरा घटनाक्रम बस में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। इसके बाद बस के ड्राइवर ने बस रोक कर घटना की जानकारी पुलिस को दी।

घटना के बाद से ही इलाके में सनसनी फैल गई। इसके बाद वहां लोगों की भीड़ जमा हो गई। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह गौर ने दलबल के साथ चित्रकूट पहुंचकर घटनास्थल का मुआयना किया और बदमाशों की तलाश में जंगल में पुलिस पार्टियां उतार दी हैं।

लोगों ने लगाया जाम

अपहरण की घटना के बाद गुस्साए लोगों ने मंगलवार शाम 5 बजे जानकी कुंड के पास मुख्य मार्ग पर जाम लगा दिया। इस दौरान लोग सड़क पर बैठ गए और पुलिस की कार्यप्रणाली के  विरोध में नारेबाजी भी की।

 

 

Related posts