लॉकडाउन: घर में बैठे-बैठे बच्चें हो रहे हैं बोर, इन तरीकों से बनाएं उन्हें क्रिएटिव और एक्टिव

चैतन्य भारत न्यूज

कोरोना वायरस के कहर के कारण पूरे देश को 21 दिनों के लिए लॉकडाउन कर दिया गया है। इस दौरान कामकाजी लोगों से लेकर बच्चे तक सबको घर में रहने की हिदायत दी गई है। लॉकडाउन का सबसे ज्यादा असर बच्चों पर पड़ रहा है। बड़े तो घर के अंदर रह सकते हैं लेकिन बच्चों को ये समझाना थोड़ा मुश्किल काम है। समय बिताने के लिए अधिकतर बच्चे मोबाइल में वीडियो देखते रहते हैं या फिर गेम खेलते हैं। ऐसे में अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्चे इस मुश्किल दौर में भी सेहतमंद और खुश रहे तो हम आपको आज कुछ ऐसे टिप्स बता रहे हैं, जिनका इस्तेमाल कर आप अपने बच्चे को खुश रख सकते हैं। आइए जानते हैं-

किताबें

यदि आप चाहते हैं कि आपका बच्चा बिना स्कूल जाए भी किताबों में दिलचस्पी रखें तो आप उसे किताबें पढ़ने की आदत डलवाएं। खाली समय में आप अपने बच्चे को किताबें पढ़ने के लिए कहिए। इससे उनका बौद्धिक और मानसिक विकास होगा। किताब पढ़ने से बच्चा नई-नई चीजें भी सीखेगा। साथ ही इससे उसकी रीडिंग भी अच्छी होगी और उसके ज्ञान में बढ़ोतरी होगी। कोई भी किताब या कहानी पढ़ने के बाद बच्चों से उसके बारे में पूछिए जरूर।

क्राफ्ट आइडिया

यह खाली समय बच्चों के कुछ नया सीखने के लिए बेहद कीमती है। आपको भी अपने बच्चों से समय का सदुपयोग करवाए। उन्हें तरह-तरह के क्राफ्ट बनाना सिखाएं। यदि आपको नहीं आता तो आप यूट्यूब की मदद ले सकते हैं। इससे आपके बच्चे क्रिएटिव बनेंगे। यदि आपके बच्चे की रूचि पेंटिंग बनाने में है तो आप उससे अलग-अलग विषयों पर पेंटिंग बनवाएं।

पुराने खेल

इन खाली दिनों में आप बच्चों को पुराने खेलों से परिचित करवाएं। सांप-सीढ़ी, केरम बोर्ड, मोनोपोलो और लूडो जैसे घर के खेल खेलने में आप उनका साथ दें। बच्चों के साथ ये खेल खेलने में आपका भी अच्छा वक्त गुजरेगा।

एजुकेशनल प्रोग्राम

बच्चों को वीडियो या गेम्स खेलने की जगह आप उन्हें एजुकेशनल प्रोग्राम देखने के लिए प्रोत्साहित करें। उनके ज्ञान में वृद्धि के लिए आप Netflix and YouTube की मदद ले सकते हैं। इससे उनके ज्ञान में वृद्धि होगी।

बच्चों को घर के काम में लगाएं

ऐसे समय में आप बच्चों को घर के कामों में लगाकर उन्हें समय का सदुपयोग करना सिखाएं। उनसे आप घर की थोड़ी साफ-सफाई करवाएं, किचन के काम सिखाकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाएं।

ये भी पढ़े…

लॉकडाउन में घर में हो रहे हैं बोर? कुछ इस तरह करें समय का सदुपयोग

मोबाइल-लैपटॉप पर बढ़ता जा रहा बच्चों का स्क्रीन टाइम, WHO ने जताई चिंता

Related posts