आपका सैनिटाइजर असली है या नकली, इन 3 आसान तरीकों से घर पर ही लगाइए पता

चैतन्य भारत न्यूज

कोरोना महामारी के दौरान मास्क और सैनिटाइजर की भी डिमांड बढ़ गई है। ऐसे में पैसा कमाने के लिए लोगों ने नकली माल बनाकर बेचना शुरू कर दिया है। कुछ जगहों पर नकली सैनिटाइजर बनाने वाली कंपनियों का खुलासा हुआ है। ये कंपनियां ब्रांडेड कंपनियां जैसा नकली सैनिटाइजर बनाकर उन्हें ज्यादा दाम में बेच रही हैं।सरकार ने निर्देश दिया है कि कोरोना से बचाने के लिए 70 से 80 फीसदी एल्कोहल वाला सैनिटाइजर का ही उपयोग करना है। लेकिन कोई कैसे पहचाने कि उसका सैनिटाइजर असली है। आइए आपको बताते हैं कि सैनिटाइजर की असलियत कैसे पता करें।

  1. आपके घर में आटा तो होगा ही। सबसे पहला टेस्ट आटे से कर सकते हैं। अपने सैनिटाइजर को एक कटोरी में एक चम्मच आटा डालकर उसके ऊपर डालिए। फिर उसे गूथने की कोशिश करिए। यदि आटा गुथ जाए तो समझ लीजिए की सैनिटाइजर असली नहीं है। क्योंकि असली सैनिटाइजर आटे को गूथने नहीं देगा। सैनिटाइजर मिलाने पर आटा बिखरा हुआ रहेगा। जबकि नकली होगा तो वह गुथ जाएगा।
  2. आजकल सभी के घर में टॉयलेट या टिश्यू पेपर होता ही है। आप एक टिश्यू पेपर लेकर उसके बीच में पेन से एक छोटा सा गोला बनाइए। उसके बाद उसके ऊपर एक बूंद सैनिटाइजर डाल दीजिए। यदि स्याही से बना गोला फैल जाता है तो जान जाइए कि आपका सैनिटाइजर नकली है। अगर गोला वैसा ही रहता है और सैनिटाइजर कुछ मिनटों में सूख जाता है तो इसका मतलब वह असली है।
  3. एक आसान तरीका और है। एक कटोरी में थोड़ा सा सैनिटाइजर निकाल कर डाल दीजिए। उसके बाद हेयर ड्रायर से उसपर हवा मारिए। अगर सैनिटाइजर 5-7 सेकेंड में सूख जाए तो वह असली है। नकली सैनिटाइजर इतनी देर में नहीं सूखेगा, वह और ज्यादा समय लेगा।

ये भी पढ़े…

आंध्र प्रदेश में शराब की जगह पी लिया सैनिटाइजर, नौ लोगों की मौत, पंजाब में भी जहरीली शराब पीने से 21 लोगों की मौत

सैनिटाइजर के भरोसे रहकर आप कर रहे हैं अपनी सेहत के साथ खिलवाड़!

 सावधान! बाजार में बिक रहा हाई मेथेनॉल वाला सैनेटाइजर, यह खराब कर सकता है आपकी सेहत

Related posts