बीजेपी का शिवसेना से हाथ मिलाने का प्रस्ताव, लेकिन रखी यह शर्त

shivsena bjp

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी के रिश्तों में खटास आ गई थी, जिसके बाद दोनों पार्टियां गठबंधन तोड़कर अलग हो गई थी। फिर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस और एनसीपी से समझौता किया और महाराष्ट्र में अपनी सरकार बनाई।


कांग्रेस-एनसीपी से अलग हो शिवसेना: बीजेपी

शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी इन तीनों पार्टियों के अलग-अलग विचारों को लेकर मतभेद चल रहा है। इसी बीच बीजेपी द्वारा इस बात के संकेत दिए गए हैं कि वो शिवसेना के किसी भी प्रस्ताव को मानने के लिए तैयार है, लेकिन शर्त यह है कि शिवसेना पहले खुद को कांग्रेस और एनसीपी से अलग करे।

उद्धव ठाकरे ने बताया बीजेपी के साथ कैसा है रिश्ता

उद्धव ठाकरे ने शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ को दिए साक्षात्कार में नागरिकता संशोधन कानून (CAA), नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (NPR) और रजिस्टर ऑफ सिटीजंस (NRC) को लेकर कई बातें कही। साथ ही ठाकरे ने बीजेपी के साथ अपने रिश्तों पर भी प्रक्तिक्रिया दी। उद्धव ठाकरे ने कहा कि, ‘अगर बीजेपी ने अपने वादों को पूरा करने के साथ झूठ नहीं बोला होता तो वो अलग रास्ता नहीं अपनाते। वो कभी राज्य के सीएम भी नहीं बनते। उन्होंने तो जो तय हुआ था उसकी ही मांग की उससे ज्यादा कुछ भी नहीं मांगा था।’

पीएम मोदी और फडणवीस के बीच सैंडविच बन गए

उद्धव ठाकरे ने बीजेपी के साथ भविष्य में गठबंधन को लेकर कहा कि, ‘लोकसभा चुनाव से पहले अमित शाह जी खुद उनसे मिलने के लिए आए थे। लेकिन अब हालात बदले हुए हैं। लेकिन भविष्य में अगर हालात में बदलाव होते हैं तो यह लोगों के लिए भी अच्छा होगा। वो यह नहीं कह रहे हैं कि बीजेपी के साथ अब कभी शिवसेना का गठबंधन नहीं होगा। बीजेपी के साथ 25 साल तक हमारा गठबंधन हिंदुत्व की वजह से रहा।’ उद्धव ठाकरे ने बताया कि, ‘पीएम मोदी उन्हें अपना छोटा भाई कहते थे, फडणवीस भी उन्हें छोटा भाई कहा करते थे। एक तरह से वो उन दोनों के बीच सैंडविच की तरफ फंस गए।’

ये भी पढ़े…

शिवसेना-NCP की प्रेस कॉन्फ्रेंस, शरद पवार का दावा- हमारे पास पर्याप्त संख्या है, सरकार तो हम ही बनाएंगे

महाराष्ट्र : शिवसेना नेता संजय राउत बोले- भतीजे ने चाचा को धोखा दिया, अजित पवार ने अंधेरे में डाका डाला

शिवसेना का बीजेपी पर कटाक्ष- 105 वालों की मानसिकता ठीक नहीं, हम महाराष्ट्र के मालिक हैं और देश के बाप हैं 

Related posts