​​अनोखा मामला: 5 साल पहले चोरी हुए गधे की अनोखी दास्तां, खुद भगवान ने मंदिर में सुलझाया मामला

चैतन्य भारत न्यूज

भीलवाड़ा. राजस्थान के भीलवाड़ा से गधे चोरी का एक दिलचस्प मामला सामने आया है। 5 साल पहले चोरी हुए गधे के यह मामला इतना पेचीदा हो गया है कि उसका हल निकालने में पुलिस को भी काफी जतन करने पड़े। लेकिन आखिरकार भगवान ने उस गधे को खुद ही उसके मालिक से मिला दिया।

भेड़ों के बीच चरता दिखा गधा

जानकारी के मुताबिक, 5 साल पहले चांद जी की खेड़ी गांव के रामदेव बागरिया का गधा चोरी हो गया था। काफी तलाश करने के बाद भी जब वह नहीं मिला तो रामदेव ने अपने पालतू गधे को भुला दिया था, लेकिन इस महीने की शुरुआत में जब रामदेव बागरिया अपने गांव से कोटडी आ रहा था, तो रास्ते में उसे मान सिंह जी का झोपड़ा गांव के पास एक भेड़ों का झुंड दिखा। उस झुंड के बीच में एक गधा भी चरते हुए दिखाई दे रहा था। रामदेव ने अपने पालतू गधे को पहचान लिया और जब उसने गधे को आवाज लगाई तो वह भी दौड़कर अपने पूर्व मालिक के पास चला आया। फिर रामदेव ने उसे बिस्किट खिलाएं और उसके वर्तमान मालिक से उसका गधा लौटाने की मांग की।

दोनों मालिकों से पूछी गधे की उम्र

रामदेव ने 3 जुलाई को कोटड़ी थाने में गधा न लौटाने की शिकायत की और गधा चोरी होने की रिपोर्ट की। इस पर थाना प्रभारी सुरेश चौधरी ने जब दोनों पक्षों को बुलाया तो दोनों ही गधे पर अपना मालिकाना हक जताते दिखे और उनके बीच झगड़ा शुरू हो गया। थाना प्रभारी ने बताया कि, मैंने दोनों से गधे की उम्र और उसके पहचान के साक्ष्य के बारे में बातचीत की, तो गधे के वर्तमान मालिक ने जहां गधे की उम्र 7 साल बताई वहीं उसके पूर्व मालिक ने उसकी उम्र 12 साल बताई। इस पर मैंने पशु चिकित्सक की सहायता ली तो उन्होंने गधे की उम्र लगभग 10 साल बताई। साथ ही गधे के पूर्व मालिक रामदेव ने अपने गधे के फोटो के साथ उसके इलाज के साक्ष्य भी पेश किए। लेकिन फिर भी वर्तमान मालिक उसे गधा देने को तैयार नहीं हुआ।

मंदिर प्रांगण में हुआ फैसला

जब दोनों ही मालिक गधे को अपना बताने पर अड़े रहे तो पुलिस अधिकारी ने पेचीदा मामले को सुलझाने के लिए अनोखा तरीका निकाला। उन्होंने तय किया कि कोटडी के प्रमुख मंदिर भगवान चारभुजा मंदिर परिसर में इस गधे को बांध देते हैं, जो इसका असली मालिक होगा, वह ईमानदारी से उसे खोल कर ले जाएगा। इसके बाद रामदेव मंदिर से गधे को खोलकर अपने घर ले गया। वर्त्तमान मालिक ने भी इस पर कोई आपत्ति नहीं जताई। इस तरह 5 साल पुराना गधा चोरी का यह मामला हल हो गया।

Related posts