इंदौर में महिलाओं की अनोखी प्रतियोगिता, जीतने पर मिलेगा ‘मिस हीमोग्लोबिन’ का ताज

hemoglobin test

चैतन्य भारत न्यूज

इंदौर. 22 फरवरी को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की धर्मपत्नी कस्तूरबा गांधी के स्मृति दिवस पर मध्यप्रदेश के इंदौर में स्थित कस्तूरबा ग्राम में महिलाओं के लिए एक अनोखी प्रतियोगिता का आयोजन होने वाला है। इस प्रतियोगिता में महिला या लड़की के हीमोग्लोबिन की जांच की जाएगी। यदि उनके रक्त में हीमोग्लोबिन का मानक स्तर पाया गया तो प्रतिभागी को ‘मिस हीमोग्लोबिन’ के खिताब से नवाजा जाएगा।

कस्तूरबा गांधी यानी बा के स्मृति दिवस पर उनके सभी सपनों के अनुरूप महिलाओं को शिक्षित करने, उन्हें सशक्त बनाने और स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के लिए इस अवसर पर शक्ति सम्मलेन का आयोजन किया जाएगा। इस आयोजन में कस्तूरबा ग्राम में पढ़ाई कर रही बालिकाओं के अलावा इंदौर संभाग से आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिकाएं व आसपास की ग्रामीण महिलाएं भी भाग लेंगी। प्रतियोगिता में डॉक्टर रक्त परीक्षण कर हीमोग्लोबिन का स्तर जांचेंगे और उसी दिन इसकी रिपोर्ट भी दे दी जाएगी। आयोजन के दौरान महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी सहित कई जनप्रतिनिधि व अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

गौरतलब है कि महिलाओं में खानपान की सजगता कम होने के कारण उनमें एनीमिया (हीमोग्लोबिन की कमी) की सबसे ज्यादा शिकायत मध्यप्रदेश से सामने आती हैं। एनीमिया के कारण महिलाएं कई तरह की बीमारियों की चपेट में आ जाती हैं। इस समस्या से ज्यादातर ग्रामीण महिलाएं जूझती हैं। ऐसी में महिलाओं को आयरन युक्त खाद्य पदार्थों के प्रति जागरूक करने के लिए इस अनोखी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है।

गौरतलब है कि इंदौर में कस्तूरबा ग्राम ट्रस्ट की स्थापना गांधीजी ने की थी। साल 1950 से यहां रूरल इंस्टीट्यूट के माध्यम से महिला सशक्तीकरण के विभिन्ना क्षेत्रों में काम करता है।

ये भी पढ़े…

पुण्य तिथि : सरल स्वभाव और अहिंसा के पुजारी थे महात्मा गांधी, जानें राष्ट्रपिता से जुड़ी कुछ खास बातें

सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की महात्मा गांधी को भारत रत्न देने की याचिका, कहा- वो इससे कहीं ऊपर हैं

महात्मा गांधी और शास्त्री जी की जयंती पर देश का नमन, पीएम मोदी सहित इन दिग्गज नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

Related posts