50 से ज्यादा महिला प्रोफेसरों को अश्लील कॉल कर बलात्कार की धमकी देने वाला शातिर नाबालिग हुआ गिरफ्तार

चैतन्य भारत न्यूज

जयपुर. राजस्थान यूनिवर्सिटी की करीब 50 से ज्यादा महिला प्रोफेसरों काे एक बदमाश फोन और मैसेज के जरिए अश्लील बातें कर परेशान कर रहा था। फोन के जरिए सभी को लगातार बलात्कार की भी धमकी दी जा रही थी। अब आखिरकार पुलिस ने उस साइको कॉलर को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक, आरोपित की उम्र करीब 16 साल है। वह कॉलेज के ही प्रोफेसर का बेटा है। आरोपित नेटवर्किंग और साइबर क्राइम में एक्सपर्ट था। जानकारी के मुताबिक, इस गुमनाम फोनकॉल के कारण तो महिला प्रोफेसरों ने यूनिवर्सिटी में ही आना ही बंद कर दिया था। आरोपित इस काम के लिए हरियाणा के हिसार की एक यूनिवर्सिटी के वाईफाई का इस्तेमाल करके इंटरनेट कॉल के जरिए महिला प्रोफेसरों से गंदी बातें करता था। साथ ही वह उन्हें बलात्कार की धमकी भी देता था। हैरानी वाली बात तो यह है कि यह इंटरनेट कॉल अमेरिका के जरिए रूट होती थी। इस वजह से पुलिस भी आरोपित को पकड़ नहीं पा रही थी। हालांकि, आरोपित ने इस दौरान एक ऐसी गलती कर दी जिसके बाद पुलिस ने उसे धरधबोचा।

ऐसे आया पकड़ में

आरोपित ने जयपुर की एक महिला प्रोफेसर को पार्सल भेजा था। इसमें आपत्तिजनक चीजें थी। पार्सल हैदराबाद से बुक किया गया था। महिला के घर 6 जुलाई को पार्सल पहुंचा। कैश ऑन डिलीवरी के चलते महिला ने पार्सल लेने से मना कर दिया। इसके बाद पार्सल फिर से कंपनी में चला गया। पार्सल की जांच के दौरान जब पुलिस ने हैदराबाद की कंपनी में संपर्क किया तो वहां से पता चला कि यह बुकिंग हिसार की एक यूनिवर्सिटी से हुई थी। तब यह सामने आया है कि पार्सल की बुकिंग जिस मोबाइल से की गई थी वह हिसार यूनिवर्सिटी के वाई फाई से कनेक्ट था।

फिर पुलिस ने अपनी टीम हिसार भेजी। चूंकि मोबाइल वाई-फाई से कनेक्ट था इसलिए पुलिस को यह पता करने में आसानी रही कि किस कंपनी के मोबाइल का इस्तेमाल करके आरोपित ने पार्सल आर्डर किया था। मोबाइल का पता चलते ही पुलिस आरोपित के पास पहुंच गई और फिर उसे जयपुर लेकर रवाना हो गई।

महिला प्रोफेसरों का कहना है कि, दिनभर में कभी भी या आधी रात में भी उसका फोन आ जाता था और फिर वह उनसे अश्लील बातें करने लगता था। जब उसे बात करने से मना करते थे तो वह बलात्कार करने की धमकी देता था। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए राजस्थान यूनिवर्सिटी ने सभी महिला प्रोफेसरों के फोटो, मोबाइल नंबर, एड्रेस और दूसरी जानकारियां राजस्थान यूनिवर्सिटी की आधिकारिक वेबसाइट से डिलीट कर दी थी।

ये भी पढ़े… 

फोन या सोशल मीडिया पर छेड़छाड़ और रेप की धमकी मिलने पर घबराएं नहीं बल्कि ऐसे सिखाएं सबक

Related posts