पहले अनजान लड़की भेजती है फ्रेंड रिक्वेस्ट, फिर वीडियो कॉल की आड़ में न्यूड रिकॉर्डिंग कर किया जा रहा ब्लैकमेलिंग, आप भी हो जाएं सावधान

चैतन्य भारत न्यूज

आजकल व्हाट्सएप और फेसबुक के जरिये वीडियो कॉल करके एक बहुत बड़ा स्कैम किया जा रहा है जहां आपको अनजाने नंबर से कॉल आता है या फिर अनजान लड़की की फ्रेंड रिक्वेस्ट आती है। महिला की ओर से दोस्ती की पेशकश कर ब्लैकमेल किया जाता है। मध्य प्रदेश में ऐसे कई मामले सामने आने के बाद राज्य साइबर पुलिस ने इस बारे में एडवाइजरी जारी करते हुए सलाह दी है कि अनजान महिलाओं की दोस्ती स्वीकार न करें।

प्रदेश भर में ऐसे मामले सामने आ रहे हैं, जिनमें कोई अनजान लड़की फेसबुक के जरिए किसी व्यक्ति से दोस्ती करती है और फिर व्हाट्सएप वीडियो कॉल को रिकॉर्ड कर उसे ब्लैकमेल करती है। राज्य साइबर पुलिस के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक योगेश चौधरी ने बताया कि, साइबर अपराधी फेसबुक, इंस्टाग्राम व अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर खुद को महिला बताते हुए पुरुषों से दोस्ती करते हैं। फिर कुछ दिनों तक सामान्य बात कर यह एहसास दिलाते हैं कि वह वाकई में महिला हैं। धीरे-धीरे बातचीत फेसबुक या इंस्टाग्राम से वाट्सएप पर पहुंच जाती है। दूसरी ओर से महिला बात करती है, जो वाइस चैंजर एप के माध्यम से की जाती है।

बातचीत के बीच वीडियो कॉल कर वस्त्र उतारने को कहते हैं। वस्त्र उतारने पर स्क्रीन रिकॉर्डिंग एप के माध्यम से इसे रिकॉर्ड कर लिया जाता है। इसके बाद वीडियो को सार्वजनिक करने की धमकी देकर पैसों की मांग की जाती है। कई लोग पैसा दे देते हैं, लेकिन उनकी मांग लगातार बढ़ती जाती है।

साइबर पुलिस का कहना है कि नॉर्थ ईस्ट से यह पूरा गिरोह काम कर रहा है। बढ़ते मामलों को देखते हुए पुलिस ने एडवाइजरी जारी की है। जिसके मुताबिक-

  • सोशल मीडिया पर कभी अनजान व्यक्ति से मित्रता ना करें।
  • मित्रता करने के बाद यदि आपको किसी व्यक्ति की प्रतिक्रिया संदिग्ध लगती है तो उसे तुरंत अनफ्रेंड कर दें या फिर ब्लॉक कर दें।
  • सोशल मीडिया अकाउंट पर सभी पारकर की सेटिंग को मजबूत करें जिससे कि हर कोई आपकी प्रोफाइल पर जाकर आपको निजी चीजें ना देख सके।
  • जब तक किसी व्यक्ति की पहचान की पुष्टि ना हो जाए आप उसे अपना मोबाइल नंबर ना दें।
  • फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप आदि पर अनजान व्यक्ति से वीडियो कॉल ना करें।
  • यदि आप कभी इस तरह के फ्रॉड में फंस भी जाते हैं तो घबराएं नहीं बल्कि तुरंत पुलिस थाने जाएं या फिर ऑनलाइन www.cybercrime.gov.in या Toll Free नंबर 155260 पर शिकायत दर्ज करें।
  • ऐसे समय पर उस व्यक्ति को अपने सोशल मीडिया अकाउंट से हटा दें और कुछ दिनों के लिए अपने अकाउंट को डिएक्टिवेट कर दें जिससे कि आपकी वीडियो किसी परिचित, दोस्त या रिश्तेदारों को ना भेजा जा सके।

Related posts