उन्नाव रेप केस : सीबीआई चार्जशीट में बीजेपी के पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर हत्या का आरोप नहीं

kuldeep singh sengar

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. शुक्रवार को सीबीआई ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता दुर्घटना के मामले में पहला आरोप पत्र दायर किया है। आरोप पत्र में अधिकारीयों ने कहा कि, भाजपा के पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उनके सहयोगियों के खिलाफ आपराधिक साजिश और डराने-धमकाने के आरोप हैं। लेकिन उन पर से हत्या के आरोप हटा दिए गए हैं।



बता दें सड़क हादसे में उन्नाव बलात्कार पीड़िता के दो रिश्तेदारों की मौत हो गई थी। फिर सीबीआई ने एफआईआर में सेंगर और नौ अन्य लोगों के खिलाफ आपराधिक साजिश, हत्या, हत्या के प्रयास और आपराधिक धमकी से संबंधित आईपीसी की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था। लेकिन अब सीबीआई ने लखनऊ की एक विशेष सीबीआई कोर्ट में दायर अपने आरोपपत्र में सेंगर और अन्य आरोपित साथियों पर आपराधिक साजिश और धमकी से संबंधित आरोप लगाए हैं। साथ ही उन्होंने ट्रक चालक आशीष कुमार पाल पर तेज रफ्तार और लापरवाही से वाहन चलाने के आरोप लगाए हैं।

क्या है मामला

सेंगर ने साल 2017 में नाबालिग पीड़िता का कथित तौर पर बलात्कार किया था। इस मामले में पीड़िता अपने वकील और परिवार के कुछ सदस्यों के साथ 28 जुलाई को रायबरेली जा रही थी। तभी उनकी कार को एक ट्रक ने टक्कर मार दी थी। इस हादसे में पीड़िता की चाची व मौसी की मृत्यु हो गई थी, जबकि पीड़िता व उसका वकील गंभीर रुप से जख्मी हुए थे। इसके बाद पीड़िता व वकील को इलाज के लिए दिल्ली एम्स लाया गया था। सीबीआई के सामने पीड़िता ने इस हादसे के पीछे सेंगर को जिम्मेदार ठहराया था। पीड़िता को पिछले महीने ही एम्स से छुट्टी मिली थी, जिसके बाद हाई कोर्ट के निर्देश पर पीड़िता अपने परिवार के साथ सीआरपीएफ सुरक्षा में है।

ये भी पढ़े…

उन्नाव रेप केस के आरोपित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को बीजेपी ने पार्टी से निकाला

उन्नाव रेप केस: एक्सीडेंट के बाद पीड़िता और उसके वकील की हालत नाजुक, जेल में बंद विधायक सेंगर पर हत्या का भी केस

Related posts