उन्नाव रेप पीड़िता की हालत अब भी गंभीर, खून में पाए गए खतरनाक बैक्टीरिया, 7 में से 6 एंटीबायोटिक बेअसर

unnav rape pidita

चैतन्य भारत न्यूज

उन्नाव रेप केस की पीड़िता की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है। बता दें पीड़िता को दो दिन पहले ही एयरलिफ्ट कर दिल्ली के एम्स अस्पताल लाया गया था। लखनऊ के केजीएमयू में कराए गए कल्चर टेस्ट रिपोर्ट में पीड़िता के खून में खतरनाक बैक्टीरिया होने की बात सामने आई है। यह बैक्टीरिया इतने खतरनाक हैं कि प्रमुख सात एंटीबायोटिक दवाओं में से छह बेअसर साबित हो रही हैं।

एम्स भेजी जाएगी रिपोर्ट

अब केजीएमयू पीड़िता की कल्चर रिपोर्ट को एम्स भेजेगा। रायबरेली में हुए सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल पीड़िता को पहले लखनऊ के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया था। वहां वेंटिलेटर यूनिट में कुछ समय उसका इलाज चला। फिर सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों पर पीड़िता को 5 अगस्त को एयरलिफ्ट कर दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया। पीड़िता के खून में इन्फेक्शन हो गया है जिसमें खतरनाक बैक्टीरिया पाएं गए हैं। केजीएमयू के प्रवक्ता डॉ. संदीप तिवारी के मुताबिक, आइसीयू में भर्ती मरीजों को दी जाने वाली प्रमुख एंटीबायोटिक के प्रभाव की टेस्टिंग की गई। लैब में ड्रग सेंसिटीविटी टेस्टिंग में सात एंटीबायोटिक दवाओं की जांच की गई। इनमें से छह एंटीबायोटिक पीड़िता पर बेअसर पाई गईं। विशेषज्ञों ने इसे मल्टी ड्रग रेजिस्टेंस करार दिया।

रेयर है बैक्टीरिया

जानकारी के मुताबिक, पीड़िता में एंटिरोकोकस बैक्टीरिया की पुष्टि हुई है। विशेषज्ञों के मुताबिक, यह बैक्टीरिया काफी रेयर है और यह मल में पाया जाता है। लेकिन ये पीड़िता के खून में कैसे पहुंचे इसकी जांच की जानी चाहिए। इस बैक्टीरिया पर कई दवाएं भी बेअसर हो जाती हैं। इससे निपटना कठिन चुनौती है।

ये भी पढ़े… 

उन्नाव रेप केस दिल्ली ट्रांसफर, सुप्रीम कोर्ट का आदेश-7 दिन में पूरी हो एक्सीडेंट की जांच

उन्नाव रेप केस के आरोपित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को बीजेपी ने पार्टी से निकाला

उन्नाव रेप केस: एक्सीडेंट के बाद पीड़िता और उसके वकील की हालत नाजुक, जेल में बंद विधायक सेंगर पर हत्या का भी केस

Related posts