UP: धर्मांतरण के बड़े रैकेट का भंडाफोड़, मुस्लिम बन उमर गौतम करवाने लगा मूक बधिर बच्चों का धर्मांतरण

चैतन्य भारत न्यूज

उत्तर प्रदेश में लालच देकर बड़े धर्म परिवर्तन रैकेट का खुलासा हुआ है। इस पूरे मामले में यूपी एटीएस ने दो मौलानाओं को गिरफ्तार किया है। ये दोनों मूक बधिर छात्रों व कमजोर आय वर्ग के लोगों को धन, नौकरी व शादी का लालच देकर धर्मांतरण कराते थे।

अब तक एक हजार लोगों का कराया धर्म परिवर्तन

यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि करीब एक हजार लोगों का धर्म परिवर्तन कराया गया है। ये रैकेट पिछले दो साल से चलाया जा रहा था। गरीब परिवार और मूक बधिर लोगों का धर्म परिवर्तन कराया जाता था। ये लोग ISI व विदेशी संस्थाओं के निर्देश के अनुसार, उनसे प्राप्त फंडिंग के आधार पर लोगों का धर्म परिवर्तन करवाते थे और फिर इतना ही नहीं, ये लोग धर्म परिवर्तित लोगों में उनके मूल धर्म के प्रति द्वेश और नफरत का भाव पैदा कर उन्हें रेडिक्लाइज करके देश के विभिन्न धार्मिक वर्गों में आपसी वैमनस्य फैलकर देश के सौहार्द को बिगाड़ने का काम कर रहे हैं।

एक मौलाना खुद हिंदू से मुस्लिम बना

पुलिस ने बताया कि धर्म परिवर्तन के बाद महिलाओं की शादी भी कराई गई है। इस काम के लिए एक पूरा गिरोह काम कर रहा था। इन लोगों का रैकेट और भी कई राज्यों में सक्रिय होने की बात सामने आई है। इस मामले में एटीएस ने यूपी के गोमती नगर थाने में एफआईआर दर्ज कराई है, जिसमें जामिया नगर स्थित आईडीसी इस्लामिक दावा सेंटर के चेयरमैन का नाम भी दर्ज है। जानकारी के मुताबिक, यूपी एटीएस इन दोनों मौलानाओं से चार दिन से पूछताछ कर रही है। इन लोगों से पूछताछ के आधार पर पुलिस ने बताया कि उमर गौतम खुद हिंदू धर्म से मुस्लिम में धर्मांतरित हुआ है। जांच में ये भी सामने आया है कि नोएडा में चल रहे मूक बधिर स्कूल के डेढ़ दर्जन बच्चों का भी धर्म परिवर्तन करवा चुके हैं। इन दोनों का नाम रामपुर से जुड़े धर्मांतरण के मामले में भी सामने आ रहा है।

Related posts