UP TET ग्रामीण एरिया में नहीं बनेंगे सेंटर : 12 जनवरी से वेबसाइट पर अपलोड हो जाएगा प्रवेश पत्र

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UP TET) 28 नवंबर को पेपर लीक होने के बाद निरस्त कर दिया गया था, अब 23 जनवरी को फिर से परीक्षा होनी है। इसके लिए परीक्षा नियामक प्राधिकारी की ओर से तैयारी शुरू हो गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार इस बार परीक्षा केंद्र ग्रामीण एरिया में नहीं बनाए जाएंगे। साथ ही परीक्षा केंद्रों की संख्या घटायी भी जाएगी, प्रत्येक केंद्र पर कम से कम 500 से अधिक अभ्यर्थी होंगे। इससे कम वाले परीक्षा केंद्र भी खत्म किये जा रहे हैं। ताकि पूरी व्यवस्था को सुचारू ढंग से पूरी हो सके और पेपर लीक होने की आशंका भी खत्म हो जाये। गौरतलब है कि पिछली बार सूबे में 2554 केंद्र बनाए गए थे, पर इसबार पांच सौ परीक्षा केद्र कम हो सकते हैं। एक सप्ताह के अंदर परीक्षा केंद्र निर्धारित होने के बाद 12 जनवरी तक प्रवेश पत्र वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जाएगा।

नहीं करनी होगी कोई भी औपचारिकता

यूपीटेट परीक्षा का आयोजन 23 जनवरी को किया जाएगा। पहली शिफ्ट में सुबह 10:00 से 12:30 के बीच प्राथमिक स्तर की परीक्षा होगी और दूसरी शिफ्ट में दोपहर 2:30 से 5:00 बजे के बीच उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा होगी। यूपी टीईटी की परीक्षा फिर से देने के लिए उम्मीदवारों को आवेदन नहीं करना पड़ेगा और न ही कोई आवेदन शुल्क का भुगतान करना होगा। यूपीटीईटी की परीक्षा का पूरा खर्च उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा उठाया जाएगा। परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी ने बताया कि टेट 23 जनवरी को होनी है। इसके लिए तैयारी शुरू कर दी गई है।

25 फरवरी 2022 को घोषित होगा परिणाम

टीईटी प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए 13.52 लाख और टीईटी उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए 8.93 लाख अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। गौरतलब है कि कोरोना महामारी के कारण 2020 में परीक्षा नहीं हुई थी। 2019 में करीब 16 लाख अभ्यर्थियों ने अपनी किस्मत आजमाई थी। नोटिफिकेशन के अनुसार यूपी टीईटी 2021 परीक्षा का रिजल्ट 25 फरवरी 2022 को घोषित किया जाएगा।

7 अक्टूबर को शुरू हुआ था आवेदन

यूपी TET-2021 के लिए ऑनलाइन आवेदन 7 अक्टूबर 2021 से शुरू हुए थे। इसमें रजिस्ट्रेशन की लास्ट डेट 25 अक्टूबर तय थी। इस मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट में संदीप मिश्रा और 4 अन्य ने याचिका दायर कर NIOS (नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग) से DLED कोर्स पास करने वालों को भी शामिल करने की मांग की। याचिका पर सुनवाई के बाद कोर्ट ने 22 अक्टूबर को आदेश दिया कि NIOS से डीएलएड ट्रेनिंग प्राप्त अभ्यर्थियों को भी आवेदन करने दिया जाए। इसके बाद आवेदन की डेट एक दिन और बढ़ाई गई थी।

Related posts