उन्नाव रेप : पीड़िता के पिता की मांग- दरिंदों को हैदराबाद की तरह दौड़ाकर मारो, भाई ने कहा- जलाने लायक नहीं बचा शव

unnao rape,updates unnao rape victim

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की शुक्रवार देर रात मौत हो गई। डाक्टरों के मुताबिक, पीड़िता ने देर रात 11 बजकर 40 मिनट पर आखिरी सांस ली। बलात्कार के आरोपितों ने उसे जिंदा जला दिया था, जिसमें वो 95 फीसदी जल गई थी।



पिता ने की सजा की मांग 

पीड़िता की मौत के बाद पिता ने कहा कि, ‘जिस तरह हैदराबाद कांड के आरोपितों को मारा गया ऐसे ही हमारी बेटी के दरिंदों को दौड़ा-दौड़ाकर मारा जाना चाहिए या फिर फांसी दी जानी चाहिए।’ उन्होंने कहा कि, आरोपितों को सजा मिलने के बाद बेटी को आत्मा को शांति मिलेगी।

बहन ने बयां किया दर्द 

इसके अलावा पीड़िता की बहन ने इंसाफ की मांग की है। उनका कहना है कि, ‘मुजरिमों को सख्त से सख्त सजा दी जाए। हमारे साथ इंसाफ नहीं हुआ। समय पर रिपोर्ट भी नहीं लिखी गई। हमसे यहां कोई मिलने नहीं आया है।’ जानकारी के मुताबिक उन्नाव सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता के शव का पोस्टमॉर्टम सुबह 10 बजे होगा। उसके बाद शव परिवार वालों को सौंप दिया जाएगा। कहा जा रहा है पीड़िता के शव को एयरलिफ्ट कर उन्नाव लाया जाएगा।

शव जलाने लायक नहीं बचा  

वहीं पीड़िता के भाई ने कहा कि, ‘मेरी बहन मुझसे सिर्फ इतना कह सकी कि वह जीना चाहती है और दोषियों को फांसी पर लटकते देखना चाहती है। यह राज्य की असफलता है। इससे हमें कोई फर्क नहीं पड़ता कि अपराधी एनकाउंटर में मारे जाते हैं या फांसी पर लटकाए जाते हैं, उन्हें जिंदा नहीं रहना चाहिए, यही हम चाहते हैं। हम शव को अपने गांव ले जाएंगे और वहीं शव को दफना देंगे क्योंकि अब उसमें जलाने लायक कुछ भी बचा नहीं है।’

गौरतलब है कि गुरुवार सुबह दुष्कर्म पीड़िता जब कोर्ट में पेशी के लिए उन्नाव से रायबरेली जा रही थी, तभी आरोपितों ने उसपर पेट्रोल छीड़कर आग लगा दी थी, जिसमें वह 95 फीसदी झुलस गई थी। इस बर्बर घटना के बाद पीड़िता को लखनऊ के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसकी हालत में कोई सुधार नहीं होता देख डॉक्टरों ने दिल्ली रेफर कर दिया। पीड़िता को गुरुवार की शाम एयरलिफ्ट कर लखनऊ से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल लाया गया था।

ये भी पढ़े…

उन्नावः जमानत पर छूटे दुष्कर्म आरोपितों ने पीड़िता पर पेट्रोल डालकर जिंदा जलाया, हालत गंभीर

उन्नाव कांड: पीड़िता के दो अंदरूनी अंग हुए डैमेज, हालत गंभीर, पिता बोले- जिसे बेटा समझकर घर आने दिया, उसी ने किया बेटी का रेप

Related posts