अमेरिका: कोरोना योद्धाओं को लोग मुफ्त में इस्तेमाल के लिए दे रहे 1 करोड़ तक की अपनी लग्जरी वैन

चैतन्य भारत न्यूज

कैलिफोर्निया. अमेरिका में कोरोना वायरस का कहर जारी है। यहां अब तक 11 लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं और 67 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। इनमें डॉक्टर्स भी शामिल हैं। ऐसे में अमेरिका के लोग कोरोना योद्धाओं की हरसंभव मदद कर रहे हैं।

कैलिफोर्निया और मिशिगन के लोग डॉक्टर, नर्स और मेडिकल स्टाफ को अपनी लग्जरी आरवी यानी रिक्रिएशन वैन मुफ्त में इस्तेमाल करने के लिए दे रहे हैं, जिससे कि उन्हें घर जैसी सुविधाएं और आराम मिले और उनके परिवार को संक्रमण से बचाया जा सके। अब तक डॉक्टरों की इस मुहीम से 15 हजार से ज्यादा लोग जुड़ चुके हैं और ढाई हजार से ज्यादा डॉक्टर्स, नर्सों और हेल्थ स्टाफ को ये वैन दी जा चुकी हैं।

मिशिगन की नर्स पेटीज कात्जे जो ब्रॉनसन हॉस्पिटल के आईसीयू में काम करती हैं, वह भी इन दिनों करेन और स्टीव लैंबर्ट की दी गई आरवी का इस्तेमाल कर रही हैं। वे करीब 200 किमी दूर से पेटीज के लिए वैन लेकर आए हैं। स्टीव ने इस बारे में बताया कि, ‘हमने महसूस किया कि यह एक बहुत बड़ा संसाधन है, जिसका इस्तेमाल नहीं हो रहा है। इसलिए तय किया कि इसे कोरोना फाइटर्स के लिए देंगे। जब हमें पता चला कि केटीज को इसकी जरूरत है, तो हम वैन लेकर पहुंच गए।’

वहीं पेटीज का कहना है कि, ‘इन्होंने मेरे कंधों से बहुत बड़ा बोझ उतार दिया है। मुझे 5 और 6 साल के बच्चों और मां की चिंता होती थी। किडनी ट्रांसप्लांट होने से मां को कोरोना का गंभीर खतरा हो सकता है। अब घर के पास ही हैं, तो दूर से ही सही, एक-दूसरे को देख तो लेते हैं।’

कोरोना योद्धाओं को मुफ्त में दिए गए वाहनों में 50 लाख से एक करोड़ रुपए की कीमत वाले शामिल है। इनमें किचन, फ्रिज, टॉयलेट, टीवी, बेडरूम, सोफा जैसी सुविधाएं भी हैं। इन वाहनों की छत उठाकर ऊंची भी की जा सकती है। जानकारी के मुताबिक, अमेरिका में औसतन 46 साल की उम्र वाले हर व्यक्ति के पास ऐसी वैन है।

Related posts