अब पूरे देश के लिए खुल गई चार-धाम यात्रा, यात्रा से पहले जान लें सभी नियम और शर्तें

चैतन्य भारत न्यूज

देहरादून. उत्तराखंड सरकार ने प्रदेश से बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए चार धाम यात्रा खोल दी है। अभी तक यह यात्रा सिर्फ उत्तराखंड के लोगों के लिए खुली थी लेकिन अब देशभर के लोग चार धाम यात्रा कर सकते हैं। हालांकि बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए राज्य सरकार ने नियम और शर्तें भी रखी हैं।

दरअसल तेजी से फैलते कोरोना वायरस को रोकने के लिए राज्य की सरकार ने अन्य राज्यों के लोगों के लिए चार धाम की यात्रा को बंद कर दिया था। लेकिन अब सरकार ने सभी लोगों को यात्रा की इजाजत दे दी है। उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम् बोर्ड के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर रवि नाथ रमन ने शुक्रवार को इस संबंध में जानकारी दी। इस दौरान जो भक्त चार धाम की यात्रा के लिए दूसरे राज्यों से उत्तराखंड आएंगे, उन्हें सरकारी गाइडलाइन का पालन करना होगा। उत्तराखंड में आने से 72 घंटे पूर्व कोविड-19 टेस्ट करवाया हो और उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई हो। इसके बाद ही चार धाम यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी।


रविनाथ रमन ने कहा कि, बाहर से आने वाले यात्रियों को अपने साथ कोविड-19 की टेस्ट रिपोर्ट के ओरिजिनल डॉक्यूमेंट साथ रखने जरूरी होंगे। चार धाम को लेकर जारी गाइडलाइंस के अनुसार उत्तराखंड से बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए आईसीएमआर द्वारा अधिकृत लैब से ही कोविड-19 यानी आरटी पीसीआर टेस्ट ही स्वीकृत होंगे। श्रद्धालुओं को अपने सभी जरूरी डॉक्यूमेंट चार धाम देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड कर वहां से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। वहां से उन्हें चार धाम जाने का पास इशू हो जाएगा।

देवस्थानम बोर्ड के सीईओ ने बताया कि ऐसे लोग जिन्होंने 72 घंटे पूर्व अपना कोविड-19 टेस्ट नहीं करवाया है और उत्तराखंड में चार धाम यात्रा करना चाहते हैं, उन्हें कोविड-19 के नियमों के मुताबिक क्वारंटाइन होने के बाद ही चार धाम यात्रा की परमिशन दी जाएगी।

Related posts