डेढ़ माह की बच्ची के लिए ‘वासुदेव’ बना ये पुलिसकर्मी, बाढ़ से ऐसे बचाई जान

चैतन्य भारत न्यूज

इन दिनों गुजरात में बाढ़ की स्थिती बनी हुई है। भारी बारिश के कारण लोग काफी परेशान हो रहे हैं। हाल ही में सेंट्रल गुजरात के वड़ोदरा से एक ऐसी तस्वीर सामने आई है जिसने सभी का दिल जीत लिया। इस तस्वीर को देखकर यकीनन आपका भी दिल पिघल जाएगा। यहां बाढ़ में फंसे एक नवजात की जान पुलिसकर्मी ने इस तरह बचाई जिसे देख हर कोई पुलिसकर्मी को सलाम कर रहा है।

इस तस्वीर में आप देख सकते हैं बाढ़ के कारण पानी का स्तर गर्दन तक पहुंच गया है। ऐसे में एक पुलिसकर्मी ने अपने सिर पर टोकरी रखी हुई है। इस टोकरी में करीब डेढ़ माह की एक नवजात बच्ची है। पुलिसकर्मी टोकरी को सिर पर रखकर बच्ची को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाते हुए नजर आ रहे हैं। यह नजारा गुरुवार को देखने को मिला। जानकारी के मुताबिक, पुलिस सब इंस्पेक्टर गोविंद चावड़ा ने विश्वामित्री रेलवे स्टेशन के नजदीक देवीपुरा से डेढ़ साल की एक नवजात बच्ची की जान बचाई।

इलाके में भीषण बाढ़ की सूचना मिलते ही पुलिस की एक टीम रेस्क्यू के लिए फौरन वहां पर पहुंच गई। उस पुलिसकर्मी ने बताया कि, ‘मैंने और अन्य पुलिसकर्मियों ने पैदल चलकर देवीपुरा का सफर तय किया। हमने फिर एक खंभे से रस्सी बांध दी ताकि लोग गर्दन तक भरे बाढ़ के पानी में उस रस्सी को पकड़ कर बाहर सुरक्षित जगह पर आ सकें।’ उन्होंने आगे बताया कि, ‘हमने देखा कि एक नन्ही-सी बच्ची और उसकी मां बाढ़ में डूबे एक घर में फंसे हुए हैं। फिर हमने एक प्लास्टिक के टब में बच्ची को रखा क्योंकि गोद में बच्ची को लेकर बाहर निकलना असंभव था।’ पुलिसकर्मी ने बच्ची को सिर पर रखकर करीब डेढ़ किलोमीटर तक 5 फीट गहरे बाढ़ के पानी में सफर किया औऱ सुरक्षित जगह पर पहुंचे।

सोशल मीडिया पर इस पुलिसकर्मी की तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है और हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है। कुछ लोगों ने तो उनकी तुलना भगवान श्रीकृष्ण के पिता वासुदेव से भी कर दी। गौरतलब है कि गुरुवार सुबह तक वड़ोदरा में 24 घंटे के भीतर 499 मिमी वर्षा हो गई थी।

Related posts