शिकारा रिव्यू: कश्मीरी पंडितों के दर्द को बयां करती फिल्म, दिल छू लेगी कहानी

shikara

चैतन्य भारत न्यूज

फिल्म : शिकारा
कलाकार : आदिल खान, सादिया, प्रियांशु चटर्जी
निर्देशक: विधु विनोद चोपड़ा
फिल्म टाइप : ड्रामा, ऐतिहासिक, रोमांटिक
सर्टिफिकेट : UA
अवधि : 2 घंटे


कहानी

फिल्म की कहानी शिव प्रकाश धर (आदिल खान) और शांति सप्रू (सादिया) की है जो कश्मीर में रहने वाले सीधे-साधे कश्मीरी पंडित हैं। दोनों की एक अलग ही दुनिया है। दोनों अपनी दुनिया में प्यार मोहब्बत से रहते हैं। यह कहानी 1989 के समय की है जब खूबसूरत कश्मीर में आतंकवाद पैर पसार रहा था। इस दौरान लाखों कश्मीरी पंडितों को घाटी से बाहर कर दिया जाता है। इन लोगों में शांति और शिव भी शामिल होते हैं। उन्हें अपने घर छोड़कर रिफ्यूजी कैंप में जाना पड़ता है। इस दौरान उन्हें तमाम दर्द और पीड़ा झेलनी पड़ती है।

कैसी है फिल्म

निर्देशक विधु विनोद चोपड़ा इस फिल्म के जरिए कश्मीरी पंडितों की पीड़ा, उनका दर्द जनता तक पहुंचाने में सफल हुए हैं। फिल्म की कहानी आपके दिल को छू जाएगी। फिल्म में दिखाए गए सभी सीन और डायलॉग शानदार हैं। सिनेमेटोग्राफी भी तारीफे काबिल है। फिल्म में कश्मीर की खूबसूरती, वहां के जनजीवन और फिल्म के मूड को बेहतरीन तरीके से पेश किया गया है। फिल्म का गीत-संगीत सामान्य है।

कलाकारों की एक्टिंग

एक्टिंग की बात करें तो आदिल खान ने शिव का किरदार बहुत अच्छा निभाया है। उन्होंने अपने अभिनय के जरिए एक कश्मीरी पंडित की पीड़ा को बेहद प्रभावी तरीके से उभारा है। वहीं सादिया ने भी शांति का किरदार बेहतरीन निभाया है। सादिया और आदिल दोनों की यह पहली फिल्म है लेकिन वह अपने अभिनय से जनता को प्रभावित करने में सफल साबित हो सकते हैं। फिल्म में प्रियांशु चटर्जी की भूमिका थोड़ी छोटी है, लेकिन वह याद रह जाते हैं।

ये भी पढ़े…

मलंग रिव्यू: रोमांस, एक्शन और सस्पेंस से भरपूर है फिल्म, छा गई आदित्य-दिशा की जोड़ी

तानाजी रिव्यू: जबरदस्त एक्शन सीन जीत लेंगे दिल, ऐतिहासिक भव्यता के बीच अजय-सैफ का शानदार अभिनय

छपाक रिव्यू : एसिड अटैक पीड़िता की दर्दनाक कहानी, कभी डराएगी तो कभी रुलाएगी फिल्म

Related posts