JUNGLEE REVIEW : विद्युत के एक्शन सीन्स और फिल्म की बेहतरीन कहानी से पूरी तरह जुड़ जाएंगे आप

junglee,junglee review,junglee rating

टीम चैतन्य भारत

फिल्म : जंगली
कलाकार : विद्युत जामवाल,अतुल कुलकर्णी,अक्षय ओबेरॉय,आशा भट,पूजा सावंत
निर्देशक : चक रसेल
मूवी टाइप : ऐक्शन,अडवेंचर,थ्रिलर
अवधि : 1 घंटा 55 मिनट

कहानी : राज नायर ( विद्युत जामवाल) जो शहर में जानवरों का डॉक्टर है। 10 साल बाद राज मां की बरसी पर अपने घर उड़ीसा लौटता है वहां पर राज को कई सारी नई बातों से रूबरू होना पड़ता है। उड़ीसा में उसके पिता हाथियों को संरक्षण प्रदान करने वाली एक सेंचुरी चलाते हैं। राज का पीछा करते हुए पत्रकार मीरा (आशा भट्ट) भी ओडिशा पहुंच जाती हैं। मीरा राज के पिता पर एक आर्टिकल लिखना चाहती है। राज के घर पर उसके पिता के साथ मदद करने के लिए राज की बचपन की साथी शंकरा ( पूजा सावंत) और फॉरेस्ट ऑफिसर देव भी है। जैसे ही राज घर लौटता है तो वह अपने बचपन के साथी हाथी भोला और दीदी से मिलकर बहुत खुश हो जाता है और उन सभी पुराने दिनों को याद करने लगता है, जब उसकी मां जीवित थी और वह अपने गुरु (मकरंद देशपांडे ) से कलारिपयट्टु का प्रशिक्षण ले रहा था। राज को इस बात का जरा भी अंदाजा नहीं था कि सेंचुरी और हाथियों पर शिकारियों की नजर हैं। हाथी दांत के विदेशी तस्करों के लिए शिकार करनेवाला शिकारी (अतुल कुलकर्णी) सेंचुरी में आकर हाथी दांत हासिल करना चाहता है जिसके लिए वह सबकुछ तहस-नहस कर देता है। शिकारी हाथियों के सरदार भोला और राज के पिता की जान लेकर भी वहां से भाग जाता है। ऐसे में अब क्या राज सभी हाथियों को बचा पाएगा और वह शिकारियों से अपने पिता और हाथी की जान का बदला किस तरह लेगा? यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

कलाकारों की एक्टिंग : बात की जाए विद्युत की ही तो वह हर बार की तरह इस बार भी अपनी शानदार एक्टिंग और एक्शन सीन्स के जरिए दर्शकों का दिल जीत लेंगे. विद्युत ने हाथियों के साथी के रूप में गजब का काम किया है। आशा भट्ट और पूजा सावंत ने इस फिल्म के जरिए डेब्यू किया है और दोनों ने ही अपने किरदार को बखूबी निभाया है। शिकारी बनकर अतुल कुलकर्णी भी अपने अलग ही अंदाज में दिखाई दिए हैं। वहीं अक्षय ओबेरॉय और मकरंद देशपांडे अपनी भूमिकाओं में खरे उतरे हैं।

क्या है फिल्म में खास : फिल्म की कहानी तो शानदार है ही और इसमें एक्शन और इमोशन की मिलावट दर्शको को पूरे समय खुद से बांधकर रखेगी। जंगल, नदियों और असली जानवर पर फिल्माए गए दृश्य बेहतरीन हैं। फिल्म के सभी दृश्य हैरतअंगेज साबित हो रहे हैं।

Related posts