कोर्ट का बड़ा फैसला : भगोड़े विजय माल्या की जब्त संपत्ति बेचकर बैंक कर सकेंगे वसूली

vijay mallya,bombay high court

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम कानून (PMLA) के स्पेशल कोर्ट ने भारतीय स्टेट बैंक समेत कई अन्य बैंकों को विजय माल्या की जब्त संपत्ति को बेचकर कर्ज वसूली करने की इजाजत दी है। बता दें इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कहा था कि उसे माल्या के खिलाफ इस वसूली में कोई आपत्ति नहीं है।



जानकारी के मुताबिक, माल्या के वकीलों ने कोर्ट के फैसले पर आपत्ति जताते हुए कहा था कि, यह केवल डेट रिकवरी ट्राइब्यूनल ही तय कर सकता है। बता दें स्पेशल पीएमएलए कोर्ट ने माल्या के खिलाफ इस निर्णय पर 18 जनवरी तक रोक लगाई है, ताकि माल्या कोर्ट के इस आदेश के खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट में अपील कर सकें।

माल्या पर क्या है आरोप

बता दें शराब कारोबारी विजय माल्या पर ब्रिटेन में बैंकों के 9000 करोड़ रुपए का लोन नहीं चुकाने का मामला चल रहा है। साथ ही माल्या पर जालसाजी और मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप भी है। भारतीय बैंकों से धोखाधड़ी के मामले में आरोपी माल्या मार्च 2016 में ही लंदन भाग गया था। उसे वापस लाने के लिए केंद्र सरकार और भारतीय जांच एजेंसियां लगातार प्रयास कर रही हैं, लेकिन अभी तक सफल नहीं हो पाईं।

इस महीने कोर्ट सुना सकती है फैसला

लंदन कोर्ट ने दिसंबर महीने में ही माल्या के मामले में अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। अब जनवरी में कोर्ट माल्या के खिलाफ अपना फैसला सुना सकती है। भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के नेतृत्व में सरकारी बैंकों के एक समूह ने ब्रिटेन के हाई कोर्ट से माल्या को करीब 1.145 अरब पाउंड का कर्ज ना चुकाने के आरोप में दिवालिया घोषित करने का आदेश देने की फिर से अपील की थी।

ये भी पढ़े…

सीसीडी के मालिक सिद्धार्थ के बहाने विजय माल्या ने रोया अपना दुखड़ा, सरकारी एजेंसियों पर लगाए आरोप

माल्या को बिग बॉस कहकर बुरे फंसे क्रिस गेल, आलोचना हुई तो भगोड़े ने दिया ऐसा जवाब

बॉम्बे हाईकोर्ट से भगोड़े माल्या को मिला बड़ा झटका, जांच एजेंसी को मिली कार्रवाई की छूट

 

Related posts