विजय माल्या का ट्वीटः पीएम का भाषण सुना, बकाया लोन की राशि देने को तैयार, क्यों नहीं ले रहे बैंक

चैतन्य भारत न्यूज।

नई दिल्ली।  देश के बैंकों का हजारों करोड़ रुपयों का लोन लेकर फरार शराब कारोबारी विजय माल्या ने गुरुवार को लगातार कई ट्वीट कर लोन की रकम लौटाने की बात कही। लोकसभा में बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण की प्रतिक्रिया में माल्या ने ये ट्वीट किए हैं। दरअसल प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को 16वीं लोकसभा के अपने अंतिम भाषण में बिना माल्या का नाम लिए बैंकों का 9000 करोड़ रुपये लेकर भाग जाने वाले एक शख्स की चर्चा की थी।

पहलेे ट्वीट में कहा

माल्या ने पहले ट्वीट में कहा बुधवार को संसद में दिए प्रधानमंत्री के भाषण को मैंने सुना। भाषण में उन्होंने 9,000 करोड़ रुपये लेकर भागने वाले एक अज्ञात शख्स का जिक्र किया। मीडिया में चल रही बातों से मैं अंदाजा लगा सकता हूं कि वे मेरे ही बारे में बात कर रहे थे।

दूसरे ट्वीट में

दूसरे ट्वीट में माल्या ने कहा, ‘मैं आदरपूर्वक पूछता हूं कि जब मैं पैसे देने की पेशकश पहले ही कर चुका हूं, फिर प्रधानमंत्री अपने बैंकों को मुझसे पैसे लेने का निर्देश क्यों नहीं दे रहे हैं, ताकि वह किंगफिशर एयरलाइंस को दिए गए कर्ज की पूरी वसूली का कम से कम दावा तो कर सकें।’

माल्या ने कहा, ‘बकाये के भुगतान की पेशकश मैं कर्नाटक उच्च न्यायालय में कर चुका हूं। पता नहीं बैंक क्यों किंगफिशर एयरलाइंस को दिए गए पैसे नहीं ले रहे हैं।’

लोकसभा में पीएम ने बोला था हमला

बता दें कि लोकसभा में पीएम मोदी ने नाम लिए बिना राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव की चर्चा के दौरान माल्या पर करारा हमला किया था। पीएम ने कहा था ‘जो लोग देश से भाग गए हैं, वे ट्वीटर पर रो रहे हैं।

माल्या ने कहा मैं तो 9 हजार करोड़ लेकर भागा था, लेकिन मोदी जी ने मेरे 13 हजार करोड़ जब्त कर लिए। आपको बता दें पिछले दिनों माल्या के भारत में प्रत्यर्पण का रास्ता साफ हो गया है।

2 मार्च, 2016 को हुआ था फरार

बता दें कि भगोड़ा आर्थिक अपराध अधिनियम के तहत पिछले महीने माल्या को एक भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया गया है। वह 2 मार्च, 2016 को देश छोड़कर भाग गया था। लंदन की एक कोर्ट ने 10 दिसंबर, 2018 को उसके भारत प्रत्यर्पण का आदेश दिया।

 

 

Related posts