मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट, अगले तीन दिन इन राज्यों में भारी बारिश, तूफान और ओले गिरने की संभावना,

heavy rainfall,red alert,

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी के बीच भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने उत्तर भारत के सभी क्षेत्रों में भारी बारिश, ओले गिरने और तेज हवाओं के साथ बिजली गिरने की संभावना जताई है। मौसम विभाग ने उत्तर-पश्चिम भारत के अधिकांश हिस्सों के लिए 3 से 6 मई के बीच ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार हवा चलेगी

मौसम विभाग का कहना है कि 3 मई से अगले तीन दिनों के बीच हवा 30-40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी। क्षेत्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र दिल्ली के मुताबिक, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और राजस्थान के कुछ हिस्सों में तीव्र पश्चिमी विक्षोभ के कारण गरज, धूल भरी आंधी और धूल भरी हवाएं चलने की चेतावनी है। बता दें विक्षोभ ऐसे तूफान को कहते हैं जो वायुमंडल की ऊंची तहों में भूमध्य सागर, अन्ध महासागर और कुछ हद तक कैस्पियन सागर से नमी लाकर उसे अचानक बारिश और बर्फ के रूप में गिरा देता है।

चक्रवाती मौसम विकसित होने की संभावना

क्षेत्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र दिल्ली के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया, ‘पश्चिमी विक्षोभ तेज होगा क्योंकि निम्न दबाव का क्षेत्र बनेगा और अरब सागर से नमी पैदा होगी। इससे 3 मई की रात को पश्चिम राजस्थान के ऊपर एक चक्रवाती मौसम विकसित होने की संभावना है। इसके चलते अगले तीन, चार दिनों के लिए पूरे उत्तर पश्चिमी क्षेत्र में 40 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बारिश, गरज, तेज हवाएं चल सकती हैं। साथ ही पश्चिमी हिमालय के ऊपरी इलाकों में बर्फबारी हो सकती है।’

अंडमान के ऊपर बन रहा तूफान

मौसम विभाग का कहना है कि साल का पहला चक्रवाती तूफान ‘अंफन’ दक्षिण अंडमान समुद्र के ऊपर बन रहा है। शुक्रवार को दक्षिण अंडमान सागर और इससे सटे दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बना। इस तूफान की तेजी में धीमी और देरी होने की उम्मीद है। अगले 48 घंटों के दौरान तूफान के एक ही क्षेत्र में रहने की संभावना है। बाद के 48 घंटों के दौरान तूफान अंडमान सागर और उससे सटे दक्षिण-पूर्वी खाड़ी बंगाल पर होगा और इसके बाद और तेज हो सकता है। फिर 5 मई तक उत्तर पश्चिम की तरफ बढ़ेगा। इस तूफान का प्रभाव दक्षिण अंडमान सागर और बंगाल के दक्षिण-पूर्व की खाड़ी और अगले पांच से ज्यादा दिन तक अंडमान-निकोबार द्वीप समूह के ऊपर भारी बारिश और गरज के साथ वर्षा होने की संभावना है।

Related posts