प्रयागराज: वेब सीरीज ‘तांडव’ पर अखाड़ा परिषद ने की बैन लगाने की मांग, कहा- संत समाज पीछे नहीं हटेगा

चैतन्य भारत न्यूज

प्रयागराज. सैफ अली खान की वेब सीरीज ‘तांडव’ को लेकर देशभर में बवाल मचा हुआ है। आरोप है कि निर्देशक अली अब्बास जफर, सैफ अली खान, लेखक गौरव सोलंकी ने इस वेब सीरीज के जरिए भगवान राम और शिव का अपमान किया है। साधु-संतों की सबसे बड़ी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने भी ‘तांडव’ में हिंदू देवी-देवताओं का मजाक उड़ाए जाने पर कड़ा एतराज जताया है।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने मंगलवार को वीडियो जारी करते हुए कहा है कि, ‘वेब सीरीज जरिए जानबूझकर हिंदू देवी-देवताओं को अपमानित किया गया है।’ उन्होंने कहा कि, ‘इस प्रवृत्ति पर रोका जाना बेहद जरूरी है। इसके लिए संत समाज को जो कुछ भी करना पड़ेगा वो पीछे नहीं हटेगा।’ इतना ही नहीं बल्कि महंत नरेंद्र गिरी ने तत्काल इस वेब सीरीज पर बैन लगाए जाने की मांग की है।

उन्होंने कहा कि, ‘लखनऊ के हजरतगंज थाने में मुकदमा दर्ज होने और सीएम योगी के कड़ी कार्रवाई के बाद तांडव के निर्देशक अली अब्बास जफर ने माफी मांगी है। वेब सीरीज के डायरेक्टर और कलाकार लिखित माफीनामा संबंधित अधिकारी को सौंपे। उसके बाद संत समाज आगे की कार्रवाई पर विचार करेगा।’

महंत नरेंद्र गिरि ने आगे कहा है कि, ‘एक वर्ग विशेष के लोगों का वर्चस्व हो गया है। बॉलीवुड में एक खास विचारधारा के लोगों के द्वारा साधु-संतों को नीचा दिखाने और हिंदू देवी-देवताओं को अपमानित करने की आदत सी बन गई है। लेकिन, संत समाज इसे अब कतई बर्दाश्त नहीं करेगा।’

सीरीज के खिलाफ FIR दर्ज

महंत नरेंद्र गिरी ने कहा है कि, ‘अगर टीवी सिनेमा के कलाकार और निर्माता-निर्देशक इसी तरह हिंदू देवी-देवताओं का अपमान करते रहेंगे तो साधु-संत भी सड़कों पर उतरने को मजबूर होंगे। इस वेब सीरीज का जो संगठन और साधु-संत विरोध कर रहे हैं अखाड़ा परिषद उनके साथ खड़ा है।’ बता दें कि ‘तांडव’ के खिलाफ लखनऊ, ग्रेटर नोएडा और मुंबई में एफआईआर दर्ज कर ली गई है। इन पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप है।

Related posts