WHO का दावा: कोरोना वायरस वुहान की लैब से लीक नहीं हुआ, यह किसी जानवर से चमगादड़ के जरिए हमारे बीच पहुंचा होगा

corona

चैतन्य भारत न्यूज

दुनियाभर में तहलका मचा रहा जानलेवा कोरोना वायरस इंसानों में फैला कैसे? इस सवाल को लेकर पिछले एक साल से बहस जारी है। इसी बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की टीम के द्वारा एक बड़ा दावा किया गया है। WHO के एक्सपर्ट्स का कहना है कि, यह वायरस संभवत चमगादड़ से किसी दूसरे जानवर (इंटरमीडियरी) के जरिए इंसानों तक पहुंचा होगा। एक्सपर्ट्स ने इस वायरस के वुहान (चीन) की लैब से लीक होने की बात को खारिज कर दिया है।

दरअसल, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना था कि वायरस वुहान की लैब से लीक हुआ। WHO के एक्सपर्ट्स ने इस आशंका को खारिज कर दिया। चीन ने कहा था कि, वायरस का ओरिजिन उसके यहां नहीं था, बल्कि यह इंपोर्टेड फ्रोजन फूड के जरिए वहां पहुंचा। एक्सपर्ट ने इस संभावना से इनकार तो नहीं किया, लेकिन कहा कि इसके आसार बहुत कम हैं।

चीन ने जताई थी आपत्ति

हालांकि, WHO के एक्सपर्ट्स की टीम ने भी वायरस के इंसानों तक पहुंचने की वजह को लेकर अब तक कोई पुख्ता जवाब नहीं दिया है। बता दें कि WHO के एक्सपर्ट्स की टीम कोरोना वायरस के ओरिजिन का पता लगाने के लिए चीन गई थी। WHO के डायरेक्टर जनरल टेड्रोस एडहेनॉम ग्रेब्रेयीसस का कहना है कि इंटरनेशनल एक्सपर्ट्स प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताएंगे कि उनकी जांच में क्या सामने आया। साथ ही कहा कि इस महामारी के ओरिजिन को लेकर आगे और स्टडी की जरूरत है। हालांकि, चीन ने इस पर आपत्ति जताई थी। इसी वजह से एक्सपर्ट्स की रिपोर्ट में देरी हुई। जांच टीम को वुहान में एंट्री मिलने में भी दिक्कतें हुई थीं।

अब तक लाखों लोगों की ली जान

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के चलते अब तक दुनियाभर में 27 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। इस संक्रमण की वजह से पिछले साल कई देशों में टोटल लॉकडाउन लगाना पड़ा था। इसे लेकर सख्ती अभी तक जारी है। लॉकडाउन की वजह से भारत समेत दुनियाभर के देशों की इकोनॉमी को काफी नुकसान हुआ था।

Related posts