WHO ने बताया कब खत्म होगा कोरोना वायरस, स्पेनिश फ्लू का दिया उदाहरण

चैतन्य भारत न्यूज

इस समय पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही हैं। अब तक 2.3 करोड़ लोग इस बीमारी से पीड़ित हो चुके हैं। सभी को बस इसी का इंतजार है कि यह बीमारी जल्दी खत्म हो जाए। राहत वाली वाली बात यह है कि जल्द ही इस बीमारी की वैक्सीन उपलब्ध होगी। इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) प्रमुख जनरल टेड्रोस गेब्रियेसस ने कोरोना महामारी खत्म होने को लेकर बड़ा बयान दिया है।

जेनेवा स्थित मुख्यालय में वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जनरल टेड्रोस गेब्रियेसस का कहना है कि, यह महामारी दो साल में खत्म हो सकती है। उन्होंने साल 1918 में फैले स्पेनिश फ्लू का उदाहरण देते हुए कहा कि उसे खत्म होने में भी दो साल का समय लगा था। आज हमारे पास बहुत सारी तकनीक उपलब्ध है,  इसलिए हो सकता है कि यह कम समय में ही खत्म हो जाए।

टेड्रोस ने आगे कहा कि, आज हमारे पास महामारी रोकने की तकनीक भी है और ज्ञान भी है। उन्होंने कहा कि इतिहास पर गौर करने पर पाएंगे कि अर्थव्यवस्था और समाज में परिवर्तन के कारण महामारियां फैलीं। संगठन ने कोरोना महामारी से निपटने के भारत के प्रयासों की सराहना भी की है।

इससे पहले डब्ल्यूएचओ के हेल्थ डिजास्टर प्रोग्राम के कार्यकारी निदेशक डॉ. माइक रेयान ने कहा था कि, भारत में कोरोना के केस तीन हफ्ते में दोगुने हो रहे हैं। बांग्लादेश, पाकिस्तान और दक्षिण एशिया के घनी आबादी वाले देशों में भी अभी महामारी की स्थिति विस्फोटक नहीं हुई है, लेकिन ऐसा होने का खतरा बना हुआ है। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर सामुदायिक स्तर पर संक्रमण शुरू हो जाता है तो ये काफी तेजी से फैलेगा। डॉ. रेयान ने यह भी कहा कि, भारत में लोगों की आवाजाही दोबारा शुरू हो गई है, ऐसे में संक्रमण बढ़ने का खतरा बना हुआ है। वहीं, डब्ल्यूएचओ की मुख्य वैज्ञानिक डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि भारत में कोरोना के जितने कुल मामले हैं वे 130 करोड़ की आबादी के हिसाब से बहुत ज्यादा नहीं हैं, लेकिन संक्रमण की दर और रफ्तार पर नजर रखना अहम है।

ये भी पढ़े…

कोरोना महामारी के बीच अच्छी खबर, कोविड-19 के मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 74.30 प्रतिशत हुई

कोरोना काल: बदल गए चुनाव के नियम, ऑनलाइन नॉमिनेशन, ग्लव्स पहनकर वोटिंग

अमित शाह एम्स में भर्ती, हल्के बुखार और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत, हाल में ही कोरोना से हुए थे ठीक

Related posts