WHO की कोरोना वैक्सीन को लेकर चेतावनी- ये कोई जादुई गोली नहीं होगी, जो पलक झपकते ही खत्म कर देगी वायरस

चैतन्य भारत न्यूज

जिनेवा. इस समय पूरी दुनिया कोरोना संकट से जूझ रही है। ऐसे में हर कोई कोरोना की वैक्सीन का इंतजार कर रहा है। जल्द ही कोरोना की वैक्सीन आने की उम्मीद भी है। लेकिन इससे पहले ही विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना की वैक्सीन को लेकर चेतावनी जारी की है।

डब्ल्यूएचओ ने क्या कहा

डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि, ‘कोरोना वैक्सीन कोई जादुई गोली नहीं होगी, जो पलक झपकते ही कोरोना वायरस को खत्म कर देगी।’ डब्लूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस ने कहा कि, ‘अभी हमें लंबा रास्ता तय करना है इसलिए सबको साथ मिलकर प्रयास करने होंगे।’

राष्ट्रवाद के खिलाफ जारी की थी चेतावनी

बता दें डब्ल्यूएचओ ने हाल ही में वैक्सीन पर राष्ट्रवाद के खिलाफ चेतावनी दी थी। डब्ल्यूएचओ ने अमीर देशों को आगाह करते हुए कहा था कि, यदि वे खुद के लोगों के उपचार में लगे रहते हैं और अगर गरीब देश बीमारी की जद में हैं तो वे सुरक्षित रहने की उम्मीद नहीं कर सकते हैं। डब्लूएचओ के महानिदेशक ट्रेडोस ने कहा था कि, वैक्सीन पर राष्ट्रवाद अच्छा नहीं है, यह दुनिया की मदद नहीं करेगा। दुनिया के लिए तेजी से ठीक होने के लिए, इसे एक साथ ठीक होना होगा, क्योंकि यह एक वैश्वीकृत दुनिया है। अर्थव्यवस्थाएं आपस में जुड़ी हुई हैं। दुनिया के सिर्फ कुछ हिस्से या सिर्फ कुछ देश सुरक्षित या ठीक नहीं हो सकते।

12 अगस्त को रूस देगा पहली वैक्सीन को मंजूरी

गौरतलब है कि कोविड-19 वैक्सीन को मंजूरी देने वाला रूस पहला देश बनने जा रहा है। यहां के उप स्वास्थ्य मंत्री ओलेग ग्रिडनेव ने कहा है कि, 12 अगस्त को कोरोनो वायरस के खिलाफ बनाई गई पहली वैक्सीन को मंजूरी देगा। ये वैक्सीन मॉस्को स्थित गमलेया इंस्टीट्यूट और रूसी रक्षा मंत्रालय ने संयुक्त रूप से मिलकर बनाई है। हालांकि, दुनियाभर के वैज्ञानिक इस बात को लेकर चिंतित हैं कि कहीं सबसे आगे निकलने की यह दौड़ उलटी न साबित हो जाए।

ये भी पढ़े…

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी हुए कोरोना संक्रमण का शिकार, जांच रिपोर्ट आई पॉजिटिव

कोरोना का कहर: दुनियाभर में 2 करोड़ के करीब पहुंची मरीजों की संख्या, 7.18 लाख मौतें हुईं, देश में 22 लाख से ज्यादा मरीज

कोरोना काल में अमिताभ बच्चन परेशान, पूछा- मेरे लिए कोई और जॉब है क्या 

Related posts