ऑटोमोबाइल्स से होता है कहीं ज्यादा प्रदूषण, सिर्फ पटाखों पर ही बैन क्योंः सुप्रीम कोर्ट

चैतन्य भारत न्यूज।

नई दिल्ली। देश में पटाखों की बिक्री, उत्पादन और उसे रखने पर प्रतिबंध के लिए सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई हुई। पटाखों पर प्रतिबंध के मामले में सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि सिर्फ पटाखे ही प्रदूषण का एकमात्र कारण नहीं हैं, कार और ऑटोमोबाइल्स से कहीं अधिक मात्रा में वातावरण प्रदूषित होता है। मामले में अगली सुनवाई 3 अप्रैल को होगी।

प्रदूषण पर रिपोर्ट पेश करे केंद्र सरकार

आज की सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में कहा, ‘लोग पटाखों पर ही प्रतिबंध की मांग क्यों करते हैं, जबकि यह साफ देखा जा सकता है कि ऑटोमोबाइल्स अधिक प्रदूषण करते हैं।’

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा है कि वह पटाखों और ऑटोमोबाइल्स से होने वाले प्रदूषण पर एक तुलनात्मक अध्ययन कर कोर्ट में रिपोर्ट पेश करे।

पिछले साल लगाए थे नियम

बता दें कि पिछले साल भी पटाखों पर प्रतिबंध का मामला उठा था। सुप्रीम कोर्ट ने दिवाली पर पटाखों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने से इंकार करते हुए कुछ नियम लगाए थे।

Related posts