लॉकडाउन के कारण आखिरी बार सामने से भी नहीं कर सकी पति का दीदार, वीडियो कॉल पर देखा अंतिम संस्कार

antim sanskar

चैतन्य भारत न्यूज

कोलकाता. कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन के कारण एक महिला को अंतिम बार पत्नी धर्म निभाने का मौका भी नहीं मिल सका। लॉकडाउन होने के चलते महिला पति की मौत होने के बाद आखिरी बार सामने से अपने जीवनसाथी का दीदार भी नहीं कर सकी।

आत्महत्या की वजह का खुलासा नहीं

यह मामला हरियाणा के खरावड़ से सामने आया है। यहां 55 वर्षीय उत्तम काफी समय से किराए पर अकेला रहता था। वह होटल में काम करता था। बुधवार दोपहर को उत्तम का शव कमरे की खिड़की के पास मिला। उसके गले में फांसी का फंदा बंधा हुआ था। शुरुआती जांच में यह सामने आया है कि उत्तम ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है। हालांकि, अब तक आत्महत्या करने की वजह नहीं पता चल सकी है। किसी तरह पुलिस ने उसकी पत्नी और बच्चों के बारे में जानकारी निकाली। इसके बाद पता चला कि उत्तम की पत्नी और बच्चे पश्चिम बंगाल के किसी गांव में रहते हैं। फिर पुलिस ने उनसे संपर्क कर उत्तम के आत्महत्या के बारे में जानकारी दी।

स्थानीय लोगों ने किया अंतिम संस्कार

पति के निधन की खबर सुन उत्तम की पत्नी और उसके बच्चे का बुरा हाल हो गया। फिर पत्नी मालती ने रोते-बिलखते हुए पुलिसकर्मियों से गुहार लगाई कि लॉकडाउन के कारण वह नहीं आ सकती, वे ही लोग उसके पति का अंतिम संस्कार कर दें। मृतक की पत्नी और उसके बच्चे ने वीडियो कॉल पर अंतिम संस्कार की पूरी प्रक्रिया देखी और वे रोते रहे। खरावड़ के चौकी प्रभारी एएसआइ नफे सिंह ने बताया कि, स्थानीय लोगों की मदद से उत्तम के शव का अंतिम संस्कार कराया गया।

ये भी पढ़े…

लुधियाना: चोर पाया गया कोरोना पॉजिटिव, 17 पुलिसकर्मी और दो नागरिक क्वारंटाइन

कोरोना लॉकडाउन: पेट्रोल-डीजल की मांग 66% तक गिरी, कीमतों में कोई कमी नहीं

दुनिया में कोरोना का कहर: अब तक करीब 90 हजार की मौत, 15 लाख तक पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा

Related posts