कोरोना संकट: वर्ल्ड बैंक भारत को देगा 1 बिलियन डॉलर का पैकेज

चैतन्य भारत न्यूज

कोरोना संकट के बीच वर्ल्ड बैंक ने भारत को बड़ी राहत दी है। वर्ल्ड बैंक ने सरकार के कार्यक्रमों के लिए एक बिलियन डॉलर (लगभग 7,500 करोड़ रुपए) के पैकेज की घोषणा की है। यह पैकेज सामाजिक सुरक्षा पैकेज होगा।

इन कामों में इस्तेमाल होगा पैसा

वर्ल्ड बैंक के एक बिलियन डॉलर (करीब 7600 करोड़) सामाजिक सुरक्षा पैकेज का भारत में कोरोना वायरस रोगियों की बेहतर जांच, कोविड-19 अस्पताल के उच्चीकरण और लैब को बनाने में इस्तेमाल किया जा सकता है। बता दें वर्ल्ड बैंक ने पहले ही 25 विकासशील देशों (Developing countries) को पैकेज देने का प्रस्ताव दे दिया था।

अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने का कार्य किया जा रहा

भारत के लिए वर्ल्ड बैंक के निदेशक जुनैद अहमद ने कहा कि, ‘सामाजिक दूरी के कारण अर्थव्यवस्था में मंदी आई है। भारत सरकार ने गरीब कल्याण योजना पर ध्यान केंद्रित किया है ताकि गरीबों और कमजोर लोगों को बचाने में मदद मिल सके। एक स्वास्थ्य पुल बनाया जा रहा है और अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने का कार्य किया जा रहा है।’

NDB ने एक अरब डॉलर की मदद की

बता दें इससे पहले कोरोना से जंग के लिए भारत को ब्रिक्स देशों के न्यू डेवलपमेंट बैंक ने एक अरब डॉलर की आपातकालीन सहायता राशि देने का ऐलान किया था। एनडीबी ने कहा था कि, ‘यह लोन इसलिए दे रहे हैं ताकि भारत को कोविड​​-19 के प्रसार को रोकने में मदद मिले और कोरोना वायरस महामारी से होने वाले मानवीय, सामाजिक और आर्थिक नुकसान को कम किया जा सके।’

ADB ने की थी 1.5 अरब डॉलर की मदद

इतना ही नहीं बल्कि एशियाई विकास बैंक (ADB) ने भी कोरोना संकट के बीच मदद के लिए भारत को 1.5 अरब डॉलर का पैकेज देने का ऐलान किया था। इसका उद्देश्य भारत सरकार को COVID -19 के प्रसार को रोकने की लड़ाई में शामिल करना और कोरोनो वायरस के कारण होने वाले मानवीय, सामाजिक और आर्थिक नुकसान को कम करना है।

Related posts