कैंसर दिवस: WHO ने दुनिया को किया अलर्ट, अब फेफड़ा नहीं अब ब्रेस्ट कैंसर है सबसे खतरनाक

breast cancer

चैतन्य भारत न्यूज

4 फरवरी को पूरी दुनिया में विश्व कैंसर दिवस मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का मकसद इस बीमारी के प्रति लोगों को जागरूक करना है। कैंसर के कई प्रकार होते हैं, जैसे- लंग कैंसर, गले का कैंसर, फेफड़ों का कैंसर आदि। कैंसर एक बेहद ही खतरनाक बीमारी है। अब तक फेफड़ों के कैंसर को सबसे खतरनाक और आम माना जाता था, लेकिन क्या आप जानते हैं कि अब ब्रेस्ट कैंसर सबसे आम हो गया है। इसे लेकर वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन यानी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनिया को अलर्ट किया है। तो चलिए आपको इसके बारे में बताते हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने क्या कहा?

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि, ब्रेस्ट कैंसर अब सबसे आम बन चुका है। इससे पहले 20 साल से फेफड़ों का कैंसर सबसे आम था, लेकिन अब इसकी जगह पर ब्रेस्ट कैंसर पहले नंबर पर है और फेफड़े का कैंसर दूसरे स्थान पर। विश्व स्वास्थ्य संगठन के कैंसर विशेषज्ञ आन्द्रे इलबावी ने इस बारे में कहा कि साल 2020 में ब्रेस्ट कैंसर के 23 लाख मामले सामने आए और ये कुल मामलों के 12 फीसदी है। महिलाओं में होने वाले कैंसर में सबसे ज्यादा मामले ब्रेस्ट कैंसर के हैं। ये पूरी दुनिया के लिए बेहद चिंता की बात है और इसको लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनिया को चेताया है।

महिलाओं को है खतरा

ब्रेस्ट कैंसर का ज्यादा खतरा महिलाओं को रहता है। ये कैंसर उनका मोटापा बढ़ाता है। कैंसर विशेषज्ञ आन्द्रे इलबावी ने बताया कि, ‘महिलाओं में मोटापा होना ब्रेस्ट कैंसर का सबसे आम रिस्क फैक्टर है। कैंसर के मामले बढ़ाने में इसका एक बड़ा रोल है। भले ही विश्व में लोगों की औसत उम्र बढ़ी रही है, लेकिन कैंसर के मामले भी उतने ही बढ़ रहे हैं। साल 2020 में लगभग कैंसर के 2 करोड़ नए मामले सामने आए थे और साल 2040 तक ये आंकड़ा 3 करोड़ तक पहुंच सकता है।

ब्रेस्ट कैंसर की पहचान ऐसे करे

ब्रेस्ट कैंसर होने पर ब्रेस्ट में गांठ बनने लगती है और उसमे से पानी भी निकलने लगता है। इसके अलावा बगल में सूजन भी आने लगती है या फिर गांठ बनने लगती है। वहीं, अगर ब्रेस्ट के आकार में बदलाव हो रहा है तो ये भी ब्रेस्ट कैंसर का एक लक्षण हो सकता है। विशेषज्ञ बताते हैं कि 20 साल से अपने ब्रेस्ट की जांच करनी चाहिए।

ऐसे कर सकते हैं बचाव

विशेषज्ञ बताते हैं कि अगर आपको इस कैंसर से बचना है तो आपको धूम्रपान, अल्कोहल का सेवन और हार्मोन थेरेपी से खुद को दूर रखना चाहिए। इसके अलावा बढ़ता हुआ मोटापा, बच्चे को ब्रेस्टफीड न कराना और व्यायाम न करना ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को बढ़ाने का काम करते हैं। इसलिए इन चीजों को हमेशा करते रहना चाहिए।

Related posts