Rose Day 2019 : इस दिन को मनाने के पीछे है दर्दभरी कहानी, जानिए कैंसर से क्या है इसका नाता

world rose day, cancer patien,t cancer, kab hai world rose day, world rose day 2019

चैतन्य भारत न्यूज

फरवरी में आने वाले ‘रोज डे’ के बारे में तो हर कोई जानता है लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि, 22 सितंबर को भी ‘रोज डे’ मनाया जाता है। जी हां… आज पूरी दुनिया वर्ल्ड रोज-डे सेलिब्रेट कर रही है। दरअसल यह ‘गुलाब’ उन लोगों के लिए है, जो कैंसर जैसी घातक बीमारी से लगातार जूझ रहे हैं।



world rose day, cancer patien,t cancer, kab hai world rose day, world rose day 2019

इस दिन हर व्यक्ति अपने आसपास, सगे-संबंधी और कोई न हो तो कैंसर अस्पतालों में जाकर उन लोगों की परेशानियों को कुछ हद तक बांट सकते हैं, जो इस बीमारी का सामना कर रहे हैं। यह दिन कैंसर पीड़ितों के साथ मानवीय व्यवहार करने और उनका दुख बांटने के संदर्भ में मनाया जाता है।

कैसे हुई इस दिन की शुरुआत

बता दें वर्ल्ड रोज-डे 12 वर्षीय कैंसर पीड़ित बच्ची मेलिन्डा रोज की याद में मनाया जाता है। कनाडा की रहने वाली मेलिन्डा को साल 1994 में ब्लड कैंसर से ग्रस्त पाया गया था। मेलिन्डा कैंसर के लास्ट स्टेज पर थी और डॉक्टर्स ने कह दिया था कि बच्ची एक या दो सप्ताह से ज्यादा नहीं जी पाएगी। लेकिन वह छह महीने तक जिंदा रही।

world rose day, cancer patien,t cancer, kab hai world rose day, world rose day 2019

इस बीच उसने दूसरे कैंसर पेशेंट्स से मिलकर उनके जीवन में खुशियां भरीं। उन्हें चिट्ठियां, कविताएं और ईमेल्स भेजकर खुश करने की कोशिश की। इसके बाद सितंबर के महीने में बच्ची ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया और तभी से वर्ल्ड रोज-डे की शुरुआत हुई।

ये भी पढ़े…

सर्वाइकल कैंसरः इस घातक रोग से बचा सकती है जागरूकता

कैंसर कोशि‍काओं को बढ़ने से रोकती है लीची, जानिए इसके 6 बेहतरीन फायदे

कैंसर जैसी बड़ी बीमारियों से दूर रखता है जीरा, जानिए इसके फायदे

आशा से भरे लोग लंबे समय तक रहते हैं जीवित, शोध में हुआ खुलासा

 

 

Related posts