ये है दुनिया की सबसे हल्की मिठाई, 96 फीसदी हिस्से में भरी हुई है हवा

world lightest desert ,world lightest sweets ,lightest desert ,interesting fact ,interesting news

चैतन्य भारत न्यूज

दुनिया भर में करोड़ों किस्म की मिठाईयां पाई जाती हैं लेकिन भारत में इसके अनगिनत प्रकार मौजूद हैं। ऐसे में आज हम आपको एक ऐसी मिठाई के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में सुनकर आपके होश उड़ जाएंगे।



world lightest desert ,world lightest sweets ,lightest desert ,interesting fact ,interesting news

दरअसल, ब्रिटेन के कारीगरों ने दुनिया की सबसे हल्की मिठाई तैयार की है। इतना ही नहीं बल्कि इस मिठाई को बनाने में वैज्ञानिकों की मदद भी ली गई है। आप यह जानकर चौंक जाएंगे कि यह दुनिया की सबसे हल्की मिठाई है जिसका वजन सिर्फ एक ग्राम है। इस मिठाई का 96 फीसदी हिस्सा सिर्फ हवा है। मतलब मुंह को मिठास से भर देने का काम इसमें मिलाए गए सिर्फ 4 प्रतिशत पदार्थ ही करेंगे। इस मिठाई का इजाद लंदन में स्थित डिजाइनर स्टूडियो बॉमपास एंड पार के कारीगरों ने एरोजेलेक्स लेबोरेटरी के वैज्ञानिकों के साथ मिलकर जर्मनी के हैमबर्ग में किया है।

world lightest desert ,world lightest sweets ,lightest desert ,interesting fact ,interesting news

जानकारी के मुताबिक, इस मिठाई को बनाने के लिए वैज्ञानिकों ने पहले दुनिया के सबसे हल्के ठोस पदार्थ को खाने लायक बनाया फिर उसमें मिठास डाली। इस मिठाई को बनाने में एरोजेल का इस्तेमाल किया गया है। बता दें एरोजेल दुनिया का सबसे हल्का ठोस पदार्थ है। इसका अविष्कार वर्ष 1931 में हुआ था। इस पदार्थ का अविष्कार अमेरिका के रसायनविद सैमुअल किस्टलर ने किया था।

world lightest desert ,world lightest sweets ,lightest desert ,interesting fact ,interesting news

सैमुअल व उनके एक साथी के बीच शर्त लगी थी कि कौन बिना सिकुड़न के जेल में मौजूद पानी को हवा में बदल सकता है। इसी शर्त के चलते सैमुअल ने कई प्रयोग किए जिसमें एरोजेल का अविष्कार हुआ। एरोजेल में 95 से 99.8 प्रतिशत हवा होती है इसी वजह से यह दुनिया का सबसे हल्का ठोस पदार्थ है।

world lightest desert ,world lightest sweets ,lightest desert ,interesting fact ,interesting news

इसी हल्के पदार्थ से ही बॉमपास एंड पार के डिजाइनरों को दुनिया की सबसे हल्की मिठाई बनाने का आइडिया आया। डिजाइनरों ने एरोजेल से मिठाई बनाने का फैसला किया। हालांकि, इस मिठाई का स्वाद कैसा है, इस बात की जानकारी अभी तक नहीं मिली है। इस मिठाई को 10-26 अक्टूबर 2019 को सउदी अरब के दरहान स्थित किंग अब्दुल अजीज सेंटर फॉर वर्ल्ड कल्चर (इथ्रा) में प्रस्तुत किया गया था।

ये भी पढ़े…

दिवाली के मौके पर इस कंपनी ने लॉन्च की दुनिया की सबसे महंगी चॉकलेट, कीमत कर देगी हैरान

यहां मिलती है दुनिया की सबसे पुरानी और महंगी कॉफी, एक कप की कीमत है 65 हजार रुपए

ये है दुनिया की सबसे महंगी आलू चिप्स, एक टुकड़े की कीमत है 786 रुपए

Related posts