मंगलवार को भीषण रूप ले सकता है ‘यास’ तूफान, ओडिशा में रेड अलर्ट, कई राज्‍य होंगे प्रभावित

चैतन्य भारत न्यूज

चक्रवाती तूफान ताऊ ते से उबर रहे देश पर अब यास तूफान का खतरा मंडरा रहा है। मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी में उठने वाला चक्रवाती तूफान यास आज ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में दस्तक दे सकता है. इसके अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान में बदलने के बाद 26 मई को ओडिशा-पश्चिम बंगाल के तटों से गुजरने का अनुमान है।

कल तक ताकतवर हो सकता है तूफान

मौसम विभाग का कहना है कि मंगलवार तक तूफान बेहद ताकतवर हो सकता है। इससे निपटने के लिए आर्मी, नेवी और एयरफोर्स ने कमर कस ली है। तीनों सेनाओं ने नुकसान की आशंका को देखते हुए कई टीमें तैनात की हैं। यास चक्रवात उत्तरी ओडिशा के पारादीप और पश्चिम बंगाल के सागर आइलैंड के बीच से गुजरेगा। यह 26 मई को ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटों से टकरा सकता है। तूफान के अलर्ट को देखते हुए रेलवे ने 24 से 29 मई तक 25 ट्रेनें रद्द कर दी हैं।

वायुसेना भी सक्रिय

इस तूफान के खतरे को देखते हुए भारतीय वायुसेना भी सक्रिय हो गई है. वायुसेना ने NDRF की टीमों को एयरलिफ्ट किया है. जो अब कोलकाता, भुवनेश्वर और पोर्ट ब्लेयर समेत अन्य इलाकों में स्थित हैं. वहीं, 26 हेलिकॉप्टर को स्टैंड बाय पर भी रखा गया है, जो जरूरत पड़ने पर मदद कर सकते हैं. इस सबके अलावा नौसेना की तरफ से भी पूरी तैयारी की गई है.

पीएम मोदी ने अधिकारियों से की बात

वहीं तफान यास को लेकर पीएम ने जोखिम वाले क्षेत्रों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजने को कहा है। प्रधानमंत्री ने वरिष्ठ अधिकारियों को राज्यों के साथ निकट सहयोग के साथ काम करने की अपील की है। उन्होंने सभी विभागों को बिजली तथा दूरसंचार नेटवर्क में कटौती का समय कम करने और बिजली तथा दूरसंचार नेटवर्क की तेजी से बहाली के निर्देश दिए।

Related posts