लव जिहाद के खिलाफ योगी सरकार के अध्यादेश को राज्यपाल से मिली मंजूरी, अब आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा

चैतन्य भारत न्यूज

लव जिहाद को लेकर देशभर में गरमाए माहौल के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वाली अध्यक्षता वाली प्रदेश कैबिनेट द्वारा पारित अध्यादेश को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही यह नया कानून आज से यूपी में लागू हो गया है। अब से राज्य में झांसा देकर, झूठ बोलकर या छल-प्रपंच करके धर्म परिवर्तन करने-कराने वालों के साथ सरकार सख्ती से पेश आएगी। अध्यादेश में धोखे से धर्म बदलवाने पर 10 साल तक की सजा का प्रावधान है। इसके अलावा धर्म परिवर्तन के लिए जिलाधिकारी को दो महीने पहले सूचना देनी होगी।

बता दें कि पिछले मंगलवार यानी कि 24 नवंबर को उत्तर प्रदेश कैबिनेट ने लव जिहाद पर अध्यादेश को मंजूरी दी थी। इसके बाद इसे राज्यपाल के पास पारित करवाने के लिए भेजा गया था। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने आज इस अध्यादेश को मंजूरी दे दी है। अब 6 महीने के अंदर इस अध्यादेश को राज्य सरकार से विधानसभा से पास कराना पड़ेगा।

बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार ने ऐलान किया था कि हम लव जिहाद पर नया कानून बनाएंगे। ताकि लालच, दबाव, धमकी या झांसा देकर शादी की घटनाओं को रोका जा सके। यूपी सरकार के अध्यादेश के अनुसार, जबरन या धोखे से धर्म परिवर्तन के लिए 15,000 रुपए के जुर्माने के साथ 1-5 साल की जेल की सजा का प्रावधान है। अगर SC-ST समुदाय की नाबालिगों और महिलाओं के साथ ऐसा होता है तो 25,000 रुपए के जुर्माने के साथ 3-10 साल की जेल होगी।

Related posts