भारत को दो वर्ल्ड कप दिलाने वाले युवराज सिंह ने क्रिकेट से लिया संन्यास, ये है वजह

yuvraj singh,yuvraj singh retire,yuvraj singh sanyas

चैतन्य भारत न्यूज

भारत के ऑलराउंडर क्रिकेटर युवराज सिंह ने हाल ही में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। सोमवार को युवराज ने साउथ मुंबई होटल में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की। इस दौरान उन्होंने ऐलान किया कि अब वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले रहे हैं। ये कहते हुए युवराज भावुक नजर आए।

युवी ने जिताए हैं भारत को दो वर्ल्ड कप

बता दें युवराज ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत साल 2000 में की थी। 2007 टी-20 वर्ल्ड कप और 2011 क्रिकेट वर्ल्ड कप में युवी जीत के हकदार रहे हैं। युवी ने अपना आखिरी वनडे दो साल पहले 30 जून 2017 को वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था। युवराज उन खिलाड़ियों में से एक हैं जिन्होंने वनडे और टी-20 मैचों में जबरदस्त सफलता हासिल की है। हालांकि, टेस्ट में उनका प्रदर्शन औसत रहा। जानकारी के मुताबिक, युवराज ने भारत के लिए 304 वनडे खेलकर कुल 8701 रन बनाए। इसमें 14 शतक शामिल हैं। वनडे मैच में युवराज ने 111 विकेट लिए हैं। टी-20 क्रिकेट की बात करें तो इसमें युवराज ने 58 मैच खेलकर 117 रन बनाए। इसमें उनके 8 अर्धशतक हैं। टी-20 में युवी ने 28 विकेट चटकाए हैं। टेस्ट क्रिकेट में वह कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए। युवराज ने 40 टेस्ट खेलकर 1900 रन बनाए। इनमें 3 शतक भी शामिल हैं।

ये है संन्यास की वजह

सूत्रों के मुताबिक, युवराज ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से इसलिए संन्यास लिया ताकि वह आईसीसी से मान्यता प्राप्त विदेशी टी-20 लीग में फ्रीलांस करियर बना सके। दरअसल, युवराज को इन टूर्नामेंटों में खेलने की पेशकश मिल रही हैं। जानकारी के मुताबिक, युवराज 2019 क्रिकेट वर्ल्ड कप में भी खेलना चाहते थे। लेकिन उनके खराब फॉर्म और फिटनेस के कारण वह टीम में शामिल नहीं हो सके। युवराज पिछले दो साल से टीम इंडिया के लिए किसी भी फॉर्मेट में क्रिकेट नहीं खेल रहे थे। आईपीएल 2019 में युवराज मुंबई इंडियंस की ओर से खेले थे। हालांकि, उन्हें ज्यादा मैच खेलने का मौका नहीं मिला था। मुंबई इंडियंस की तरफ से युवराज ने 4 मैचों में कुल 98 रन ही बनाए। इस दौरान उनका बेस्ट स्कोर 53 रन रहा। शायद यही कारण है कि युवी भविष्य की योजनाओं पर गंभीरता से विचार कर रहे हैं।

Related posts