वन्य जीवों की बढ़ती आबादी के कारण अपने 30 हजार हाथियों को बेच रहा ये देश

elephant,zimbabwe elephant

चैतन्य भारत न्यूज

हरारे. अफ्रीकी देश जिम्बाब्वे में वन्य जीवों की आबादी लगातार बढ़ती जा रही है। इसे कम करने के लिए अब यहां की सरकार जंगली हाथियों को बेचना चाहती है। पिछले दिनों आयोजित हुए अफ्रीकी संघ और संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम के शिखर सम्मेलन में भी इस मुद्दे पर चर्चा की गई थी।

पर्यटन मंत्री प्रिस्का मुप्फुमिरा के मुताबिक, जिम्बाब्वे के करीब 30 हजार हाथियों को बेचा जाएगा। बीते मंगलवार को पर्यटन मंत्री ने बताया था कि, ‘जिम्बाब्वे अपने हाथियों को अंगोला और किसी अन्य इच्छुक देश को बेचने की योजना बना रहा है।’ उन्होंने कहा था कि, उनके पास हाथियों को बेचने के लिए कोई निर्धारित बाजार नहीं है। इसलिए जो भी वन्यजीव इन्हें खरीदने की इच्छा रखता है, हम उन्हें बेचने के लिए तैयार हैं।’ मुप्फुमिरा ने बताया कि, उनके देश में हाथियों की संख्या 84 हजार है, जिनमें से वह 30 हजार हाथियों को बेचना चाहते हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, मई में जिम्बाब्वे ने दुबई और चीन को 97 हाथी बेचे थे। इससे उन्हें करीब 20 करोड़ रुपए मिले थे। वन्यजीव एजेंसी का कहना है कि, हाथियों की बिक्री से मिलने वाले पैसों का इस्तेमाल प्रकृति के संरक्षण में किया जाएगा। बता दें दक्षिण अफ्रीका के जिम्बाब्वे, नामीबिया, बोत्सवाना और जांबिया इन चार देशों में दुनिया के कुल हाथियों की आधी आबादी है। जिम्बाब्वे में तो हाथी दांत का सबसे बड़ा बाजार भी है।

गौरतलब है कि एक अंतरराष्ट्रीय समझौते के दौरान हाथी दांत की बिक्री पर प्रतिबंध लगाया गया है। इसके बाद से ही जिम्बाब्वे, बोत्सवाना, नामीबिया और जांबिया ये चारों ही देश इसपर से प्रतिबंध हटाने के लिए अपील कर रहे हैं।

यह भी पढ़े… 

बच्चे की मौत के बाद गम में डूबा हाथियों का समूह, निकाली शव यात्रा, दिल छू लेगा यह वीडियो

Related posts