शरीर के लिए बेहद जरूरी है जिंक, इसकी कमी होने पर प्रतिरोधक क्षमता पर पड़ता है बुरा असर

चैतन्य भारत न्यूज

जिंक यानी जस्ता भी आयरन और कैल्शियम की तरह शरीर के कार्य के लिए बहुत जरूरी मिनरल है। जिंक से हमें कई तरह के स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं। यह हमारी रोग-प्रतिरोधक प्रणाली, त्वचा के स्वास्थ्य तथा जख्मों के उपचार में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह बच्चों से लेकर बड़ों तक की बीमारियों को दूर करने में सक्षम है। इसलिए शरीर में जिंक की पर्याप्त मात्रा बनाए रखना बहुत ही जरूरी होता है। चूंकि हमारा शरीर जिंक का उत्पादन खुद-ब-खुद नहीं करता है, इसलिए इसकी कमी को पूरा करने के लिए जिंक युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना होता है या सप्लीमेंट लेने पड़ते हैं। आइए जानते हैं जिंक के सेवन से होने वाले फायदों के बारे में…

जिंक की कमी के लक्षण

  • स्तन कैंसर
  • साइनसाइटिस
  • एलर्जी
  • भूख कम लगना
  • डायरिया
  • रूखी त्वचा
  • आंख में संक्रमण
  • बाल झड़ना
  • यौन संबंधी रोग या नपुंसकता
  • त्वचा पर धब्बे बनना
  • नाजुक नाखून
  • उंगलियों के नाखूनों पर निशान पड़ना
  • बालों में रूसी
  • कद छोटा रह जाना
  • प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होना
  • अनिद्रा
  • बार-बार जुकाम होना
  • त्वचा पर चकत्ते होना

कैसे पूरी करें शरीर में जिंक की कमी? 

विशेषज्ञों के मुताबिक, शरीर में जिंक की कमी पूरी करने के लिए आप दूध, दही, पनीर, गोभी, मशरूम, कद्दू के बीज, लहसुन, तिल, मटर, गेहूं, बादाम, काजू, सोयाबीन और दाल आदि का सेवन कर सकते हैं।

(विशेष ध्यानार्थः यह आलेख केवल पाठकों की अति सामान्य जागरुकता के लिए है। चैतन्य भारत न्यूज का सुझाव है कि इस आलेख को केवल जानकारी के दृष्टिकोण से लें। इनके आधार पर किसी बीमारी के बारे में धारणा न बनाएं या उसके इलाज का प्रयास न करें। यह भी याद रखें कि स्वास्थ्य से संबंधित उचित सलाह, सुझाव और इलाज प्रशिक्षित डॉक्टर ही कर सकते हैं।)

 

Related posts