ग्राहक ने मुस्लिम डिलीवरी बॉय से खाना लेने से किया इंकार, तो जोमैटो ने ऐसे सिखाया सबक

चैतन्य भारत न्यूज

ऑनलाइन फूड डिलीवरी एप जोमैटो का एक बार फिर धर्म से जुड़ा एक और मामला सामने आया है। दरअसल एक ग्राहक ने जोमैटो से खाना आर्डर किया था। लेकिन उसने सिर्फ इसलिए खाना नहीं लिया क्योंकि डिलीवरी बॉय मुस्लिम था। अब जोमैटो ने इस मामले में पंडित अमित शुक्ल नाम के व्यक्ति को करारा जवाब दिया है।

 

दरअसल, मंगलवार को अमित शुक्ल ने शिकायत करते हुए पोस्ट में लिखा था कि, ‘मैंने अभी तुरंत जोमैटो पर दिया अपना ऑर्डर कैंसिल कर दिया क्योंकि वो एक गैर हिंदू को मेरा खाना लेकर भेज रहे थे और डिलीवरी बॉय को भी बदलने से इनकार कर दिया। मैंने उनसे कहा कि वो मुझ पर इस तरह खाना लेने के लिए दबाव नहीं बना सकते हैं और मुझे रिफंड की कोई जरूरत नहीं है।’ अमित शुक्ल की तरफ से कई स्क्रीनशॉट भी शेयर किए गए थे। इसके बाद जोमैटो ने जवाब देते हुए ट्वीट किया कि, ‘खाने का कोई धर्म नहीं होता, खाना खुद एक धर्म है।’

बाद में जोमैटो के फाउंडर दीपेंद्र गोयल ने ट्वीटर पर लिखा कि, ‘हम भारत के विचारों और हमारे ग्राहकों-पार्टनरों की विविधता पर गर्व करते हैं। हमारे इन मूल्यों की वजह से अगर बिजनेस को किसी तरह का नुकसान होता है तो हमें इसके लिए दुख नहीं होगा।’

इस मामले में दीपेंद्र ने जिस तरह जवाब दिया उसे लेकर सोशल मीडिया पर उनकी खूब तारीफ की जा रही है। बता दें जोमैटो ने व्हाट्स ऐप पर भी अमित शुक्ल से बातचीत की थी। अमित ने लिखा था कि, ‘अभी हमारे लिए सावन चल रहा है और इसलिए हमें किसी मुस्लिम शख्स से डिलीवरी की कोई जरूरत नहीं है।’ फिर जोमैटो ने जवाब में लिखा कि, ‘अगर वो ऑर्डर कैंसिल करते हैं तो उन्हें कैंसिलेशन चार्ज के तौर पर 237 रुपए देने होंगे।’

अमित शुक्ल ने एक और स्क्रीन शॉट शेयर किया जिसमें उन्होंने लिखा कि, जब इस मामले पर आपत्ति दर्ज कराई तो जोमैटो ने उन्हें ब्लॉक कर दिया और अब एप पर पहले की ऑर्डर हिस्ट्री भी दिखाई नहीं दे रही है। उन्होंने आगे कहा है कि, वह अब इस मामले में अपने वकील से सलाह लेकर जोमैटो के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।

हालांकि, सोशल मीडिया पर लोगों ने उन्हें ही लताड़ लगा दी। एक यूजर ने लिखा कि- ‘आप पहले दर्जे के मूर्ख हैं और आपको बस एक पूंछ की कमी है।’

वही दूसरे ने गुस्सा जाहिर करते हुए लिखा- ‘आपको हमेशा ऐसे रेस्टोरेंट से खाना मंगाना चाहिए जहां हिंदू खाना पकाता हो उसमें भी ब्राह्मण होना जरूरी है। पंडित जी अब आपको जोमैटो का उपयोग नहीं करना चाहिए जिसका मालिक चीनी है। कुछ शर्म करो और एक सच्चे देशभक्त, सच्चे संस्कारी और सच्चे हिंदू ब्राह्मण बनो।’

एक और यूजर ने लिखा- ‘कृपया अपने नाम से पंडित हटा दें क्योंकि आपके पास सच्चा ब्राह्मण होने के लिए न तो ज्ञान है, न करुणा और न ही विनम्रता। ब्राह्मण शब्द ब्रह्मा से आया है और जिसका मन ब्रह्म के साथ एक हो जाता है वहीं ब्राह्मण है। तुम्हारा मन नाली में है। जल्द ठीक हो जाओ।’

ये भी पढ़े…

जोमैटो ने कहा, कभी घर का खाना भी खा लेना चाहिए, तो यूट्यूब-अमेजन-हाजमोला ने ऐसे लिए मजे

4 में से 1 फूड डिलीवरी बॉय खाना पहुंचाने से पहले उसे चखते हैं, सर्वे में हुआ खुलासा

अब रेस्टोरेंट नहीं बल्कि घर का बना खाना कर सकेंगे आर्डर, ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनियों की नई पेशकश

Related posts